>


बीकानेर। सीआइए सिरसा पुलिस ने ऐलनाबाद क्षेत्र में गश्त के दौरान मिठी सुरेरां क्षेत्र में दो युवकों को गिरफ्तार किया है। ये दोनों युवक आने-जाने वाले राहगीरों को लूटने की फिराक में थे। आरोपितों की पहचान श्याम सुंदर निवासी सांवतसर जिला बीकानेर राजस्थान व दवेंद्र निवासी अटेला कलां जिला दादरी के रूप में हुई है। आरोपितों के कब्जे से दो अवैध पिस्तौल, आठ कारतूस व एक प्लसर मोटरसाइकिल बरामद की है। अनुसार डीएसपी राजेश चेची व सीआइए सिरसा प्रभारी रविंद्र कुमार ने बताया कि दोनों आरोपितों की उम्र करीब २० साल है। आरोपित श्याम सुंदर सिंघाणा राजस्थान में बीती २ जून को हुई हत्या के मामले में वांछित है। इसके अलावा दोनों आरोपित भट्टू निवासी एक युवक पर जानलेवा हमला करने मामले में भी वांछित है। आरोपित दवेंद्र पर सदर दादरी में धोखाधड़ी का मामला भी दर्ज है।

पूर्व सांसद व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर लाल डूडी को मारने की थी योजना
डीएसपी राजेश चेची ने बताया कि पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि उनकी राजस्थान के बीकानेर के पूर्व विधायक व पूर्व सांसद रामेश्वर डूडी को मारने की योजना था। आरोपित श्याम सुंदर के खिलाफ लड़की का अपहरण व दुष्कर्म करने मामले में रामेश्वर डूडी ने लड़की की पैरवी की थी, इसी रंजिशन श्याम सुंदर उससे बदला लेना चाहता था। इस योजना को अंजाम देने के लिए उन्होंने पटना जेल में बंद बदमाश से छह पिस्तौल व ५५० कारतूस लेने थे। इन हथियारों की एवज में बदमाश को तीन लाख ६० हजार रुपये दिये जा चुके हैं। उनकी हथियार उपलब्ध करवाने वाले लोगों की भी हत्या करने की योजना थी।

आरोपितों की अजीत बड़सर नामक बदमाश से जान पहचान है तथा आरोपित श्याम सुंदर का पिता भी आपराधिक प्रवृत्ति का है तथा उस पर भी ५० से अधिक मामले दर्ज है। आरोपित श्याम सुंदर पर राजस्थान व हरियाणा में छह मामले दर्ज है जबकि आरोपित दवेंद्र पर तीन मामले दर्ज है। पुलिस इस मामले में आरोपितों को न्यायालय में पेश कर रिमांड लेगी और उनसे बरामद हथियारों के सप्लायरों के बारे में पूछताछ करेगी।