>



बीकानेर। जिले की 176 ग्राम पंचायतों के लिए सरपंच एवं उनके 1 हजार 452 वार्डोंे के लिए पंच के पदों के लिए चतुर्थ चरण का मतदान शनिवार 1 फरवरी को सुबह प्रात: 8.00 बजे से सांय 5.00 बजे तक होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पाल गौतम ने बताया कि जिले की बीकानेर, कोलायत, बज्जू, खाजूवाला, लूणकरणसर तथा पूगल पंचायत समितियों के अन्तर्गत आने वाली इन ग्राम पंचायतों की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 22 जनवरी को किया जाएगा।
गौतम ने बताया कि जिले की छ: पंचायत समितियों बीकानेर, कोलायत, बज्जू, खाजूवाला, लूणकरणसर तथा पूगल की 176 ग्राम पंचायतों एवं 1 हजार 452 वार्डों के लिए बुधवार 22 जनवरी को निर्वाचन की लोकसूचना जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि गुरूवार 23 जनवरी को सुबह 10.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किए जा सकेंगे। नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा 24 जनवरी को सुबह 10.30 बजे से की जाएगी। उन्होंने बताया कि 24 जनवरी को ही दोपहर 3 बजे तक अभ्यर्थियों द्वारा नाम वापिस लिए जा सकेंगे। 24 जनवरी को ही नाम वापसी का समय समाप्त होने के तुरन्त पश्चात चुनाव प्रतीकों का आवंटन एवं चुनाव लडऩे वाले अभ्यर्थियों की सूची का प्रकाशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शनिवार 1 फरवरी को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होगा और मतदान समाप्ति के तुरन्त बाद पंचायत मुख्यालय पर मतगणना की जाएगी। गौतम ने बताया कि उप सरपंचत का चुनाव रविवार 2 फरवरी को होगा। उन्होंने बताया कि चैथे चरण के मतदान के लिए मतदान दलों की रवानगी शुक्रवार 31 जनवरी को होगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि बीकानेर जिले की बीकानेर पंचायत समिति की 3 ग्राम पंचायतों के सरपंच और 29 वार्डों के लिए पंच के चुनाव होंगे, जिसके लिए 13 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। इसी प्रकार कोलायत पंचायत समिति की 35 ग्राम पंचायतों एवं 307 वार्डों में सरपंच और पंच के चुनाव के लिए 129 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि बज्जू पंचायत समिति के अन्तर्गत आने वाली 24 ग्राम पंचायतों और 210 वार्डों में होने वाले चुनाव के लिए 87 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। खाजूवाला की 27 ग्राम पंचायतों और 217 वार्डों के लिए 83 बूथ बनाए गए हैं। गौतम ने बताया कि लूणकरणसर पंचायत समिति की 51 ग्राम पंचायतों और उनके 445 वार्डों में सरपंच और पंच के चुनाव के लिए 162 मतदान केन्द्र स्थापित बनाए गए हैं। इसी प्रकार पूगल पंचायत समिति की 36 ग्राम पंचायतों और 244 वार्डों के लिए 110 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।
गौतम ने बताया कि मतदान के दौरान मतदाताओं को अपनी पहचान स्थापित करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी उक्त फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत करना होगा। फिर भी यदि कोई मतदाता किसी भी कारण से फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत करने में असमर्थ रहता है तो मतदान के लिए उसे राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अनुमोदित किए गए 12 वैकल्पिक फोटोयुक्त दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज प्रस्तुत करना आवश्यक होगा।
इन दस्तावेजों में आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राईविंग लाईसेंस, आयकर पहचान पत्र, मनरेगा जॉब कार्ड, सांसदों, विधानसभा सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र, केन्द्र सरकार अथवा राज्य सरकार, राज्य पब्लिक लिमिटेड कम्पनी, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, श्रम मंत्रालय द्वारा जारी फोटोयुक्त स्वास्थ्य बीमा योजना स्मार्ट कार्ड, फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज जैसे कि भूतपूर्व सैनिक पेंशन बुक अथवा पेंशन अदायगी आदेश अथवा भूतपूर्व सैनिक विधवा या आश्रित प्रमाण-पत्र या वृद्धावस्था पेंशन आदेश या विधवा पेंशन आदेश, सक्षम अधिकारी द्वारा जारी फोटोयुक्त छात्र पहचान पत्र, सक्षम प्राधिकारियों द्वारा जारी फोटो युक्त शारीरिक विकलांगता प्रमाण-पत्र, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अथवा सहकारी बैंक या डाकघर द्वारा जारी फोटो युक्त पासबुक शामिल है।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचरण संहिता के प्रावधान तुरन्त प्रभाव से लागू हो गए हंै, जो चुनाव प्रक्रिया समाप्ति तक लागू रहेगें। चुनाव लडने वाले अभ्यर्थियों को लाउडस्पीकर के उपयोग के लिए सक्षम अधिकारी की लिखित अनुमति प्राप्त करनी आवश्यक होगा एवं इसका प्रयोग रात्रि 10.00 बज से प्रात: 6.00 बजे तक पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।