>



बीकानेर। लोगों में पुलिस का डर किस तरह खत्म होता जा रहा है इसका उदाहरण छत्तरगढ़ थाना क्षेत्र को मिला जहां पुलिस को सूचना मिली कि एक युवक अवैध हथियार लेकर जा रहा है इस पर पुलिसकर्मियों ने उसका पीछा किया तो लोगों ने पुलिसकर्मियों को पकड़ कर उनको बंधक बनाकर उनके साथ मारपीट की तथा वर्दी तक फाड़ डाली। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार शाम को छत्तरगढ़ पुलिस थाने के हैड कांस्टेबल दयानंद व ड्राईवर विनोद कुमार व चौकी में तैनात विक्रम गश्त पर थे। इसी दरम्यिान सूचना मिली कुलदीप पुत्र ढोलाराम बावरी बंदूक लेकर अभी-अभी राणेर की तरफ जा रहा है। इस पर पुलिस ने पीछा करते हुए लालावली गांव की तरफ जाने वाली सड़क पर पहुंचे तो देखा कि कुलदीप हाथ में बंदूक लिये गांव की तरफ भाग रहा था। पुलिस ने आरोपी का पीछा किया तो आरोपी गांव के सुमेरमल पुत्र पोकरराम बावरी के मकान में घुस गया। जैसे पुलिस की जीप सुमेरमल के घर के सामने रूकी तो अंदर से सुमेरराम, ढोलाराम, श्योपाल बावरी, पोकरराम, सुभाष, कुलदीप पुत्र ढोलाराम व उनके घर की औरते बाहर निकल आई और पुलिस पर हमला बोल दिया। इस दौरान आरोपियों ने हैड कांस्टेबल दयानंद को घर में ले गए बंधक बनाकर उसके साथ मारपीट की और वर्दी फाड़ दी। इस घटनाक्रम को देखते हुए ड्राइवर विनोद व कांस्टेबल विक्रम जीप में सवार होकर पुलिस चौकी पहुंचे, जहां अन्य पुलिसकर्मियों को घटनाक्रम बताते हुए छत्तरगढ़ एसएचओ सरेेन्द्र कुमार सहित मय जाब्ता घटना स्थल पहुंचा और हैड कांस्टेबल दयानंद को मुक्त करवाया। पुलिस के अनुसार इस दौरान पुलिस ने कुलदीप को अवैध हथियार सहित गिरफ्तार किया। पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।