खुलासा न्यूज़, सीकर। रींगस में शराब ठेका लूट मामले में गैंगस्टर राजू ठेठ और चंद्रभान हत्या केस में आरोपी सुभाष बराल को शुक्रवार को सीकर कोर्ट में पेश किया गया। दोनों अपराधियों को इस दौरान भारी सुरक्षा के बीच कोर्ट लाया गया। सुरक्षा के लिहाज से राजू ठेहठ को तो बुलेट पु्रफ जैकेट भी पहनाई गई थी। सबूत व गवाहों की कमी के चलते राजू ठेठ को मामले में बरी कर दिया गया। लेकिन, सुभाष बराल की कोर्ट में पेशी के दौरान पुलिस की पोल खोल हकीकत सामने आ गई। दरअसल जिस पुलिस बस से बराल को पेश किया गया था। वह बस धक्का गाड़ी निकली। जब कोर्ट में पेशी के लिए सुभाष बराल को कल्याण सर्किल चौकी पर कुछ देर रोकने के बाद कोर्ट की ओर जाने की तैयारी हुई, तो सुभाष बराल को बस में बिठा दिया गया। लेकिन, जब चालक बस को स्टार्ट करने लगा, तो वह स्टार्ट ही नहीं हुई।ऐसे में बस को स्टार्ट करने के लिए पुलिसकर्मियों को उसे धक्का देना पड़ा। धक्का देकर बस शुरू होने के बाद सुभाष बराल को कोर्ट तक पहुंचाया गया। ऐसे में पुलिस सिस्टम पर सवाल उठ गए कि जिस पुलिस बस की हालत ही ऐसी हो, उससे वह कैसे किसी की सुरक्षा और कानून व्यवस्था को कायम रख सकती है। जबकि अपराधों की गति इतनी तेज और तरीके हाईटेक हो चुके हैं। बस को धक्का मारती पुलिस को देख हर कोई उस तस्वीर को मोबाइल में भी कैद करते नजर आए।