बीकानेर। नोखा कस्बे की फौजी कॉलोनी में स्थित सत्यनारायण जी मन्दिर के पास शनिवार सुबह बिजली के जर्जर पोल में प्रवाहित हो रहे करंट की चपेट में आने से एक बछड़ी की दर्दनाक मौत हो गई। गोवंश की मौत से गुस्साए लोगों ने वहाँ विरोध जताना शुरू कर दिया और शव नहीं उठाने दिया। वार्ड पार्षद मनोज ओझा ने बताया विद्युत विभाग को जर्जर पोल के बारे में जानकारी काफी समय पहले विभाग को दे दी गई, लेकिन विभाग के अधिकारीयो द्वारा लापरवाही बरतने के कारण यह हादसा हो गया। घटना की जानकारी मिलने के पालिका अध्यक्ष नारायण झवँर मौके पर पहुंचे। विद्युत विभाग अधिकारी भूराराम भी वहाँ पर पहुंचे और लोगों से बात की। मोहल्ले वासियों ने बताया कि उनके क्षेत्र में चार लोहे के पोल है जो काफी समय से जर्जर अवस्था में खड़े है पहले उनको तत्काल बदलने की मांग की। पालिका अध्यक्ष नारायण झवँर द्वारा समझाईस के बाद लोगों ने मृत बछड़ी का शव उठाने दिया। विधुत विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे ओर जर्जर खंभों को हटाया । इस दौरान करीब 8 घंटे बिजली बंद रही जिसके कारण लोग काफी परेशान रहे। प्रदर्शन में ओमप्रकाश प्रजापत,रामेश्वरलाल जोगाराम जाट, इंद्रचंद्र ओझा, मालचंद नाई सहित अनेक मोहल्ले वासी उपस्थित है।