खुलासा न्यूज,बीकानेर। कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदेशभर में शनिवार को कांग्रेस का पैदल मार्च आयोजित किया गया। इसी कड़ी में जिलेभर में भी पैदल मार्च निकाले गये। जिले के कोलायत,लूणकरणसर व डूंगरगढ़ में भी कांग्रेसी  नेताओं ने पैदल मार्च निकाल कर केन्द्र के कृषि कानूनों का विरोध किया। इस दौरान कोलायत में उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी के नेतृत्व में किसानों ने पैदल मार्च निकाला। बाद में एक सभा का  आयोजन किया गया। जिसमें संबोधित करते हुए भाटी ने कहा किसान आंदोलन में अब तक 200 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है। दो दर्जन से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या कर ली है। सुप्रीम कोर्ट ने  कृषि कानूनों पर रोक लगा दी है, इसके बावजूद भाजपा की मोदी सरकार देश के किसानों पर ये कानून थोपना चाहती है। पूर्व प्रतिपक्ष नेता रामेश्वर डूडी ने कहा कि भाजपा पेट्रोल-डीजल महंगा करके, गैस  सिलेंडर की सब्सिडी खत्म करके, गैस सिलेंडर को 200 रुपए बढ़ाकर देश की जनता की पीठ में खंजर घोंप चुकी है। कोलायत में आयोजित इस पैदल मार्च की खास बात यह रही कि इसमें जिले की ग्रामीण राजनीति के अधिकांश नेता कार्यकत्र्ता इसमें नजर आये जिला प्रमुख मोडाराम, जिला देहात अध्यक्ष महेन्द्र गहलोत, शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत, पूर्व जिला देहात अध्यक्ष लक्ष्मण कड़वासरा, पूर्व जिला प्रमुख पूर्णाराम मेघवाल, पूर्व जिला परिषद् सदस्य गणपत राम महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुनीता गौड, कोलायत प्रधान पुष्पा देवी सेठिया, देशनोक चेयरमेन ओम प्रकाश मूंधड़ा, कोलायत ब्लाॅक अध्यक्ष रूपाराम जिला परिषद सदस्य मोहनदान, मदन चैहान, देहात महामंत्री शिवलाल गोदारा, अनेको सरपंच वर्तमान एवं पूर्व जिला परिषद एवं पंचायत समिति सदस्य आदि उपस्थित रहें।

केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी

लूणकरणसर में प्रदेशव्यापी आह्वान के तहत तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ व किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शनिवार को पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल के नेतृत्व में भादवां फांटा से लखावर तक 13 किमी की पैदल यात्रा निकाली और जमकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। यात्रा का ग्रामीणों ने जगह जगह पुष्पवर्षाकर जोरदार स्वागत किया।इस मौके पर पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने कहा कि विडंबना है कि पूरे देश का किसान सड़कों पर है, आंदोलन में किसानों की जान जा रही है और देश का प्रधानमंत्री मौन है, यही नहीं प्रधानमंत्री अपने कॉरपोरेट दोस्तों के कारण किसानों की सुनने को तैयार नहीं है।उन्होंने कहा कि इस संकट की घङी में कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ खङी है।पदयात्रा में बीकानेर प्रधान लालचन्द आसोपा,लूणकरणसर के पूर्व प्रधान गोविन्दराम गोदारा,ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पतराम गोदारा,तहसील क्रय विक्रय समिति चेयरमैन लाधुराम थालोड़, पंचायत समिति सदस्य शेरशाह जामसर,सरपंच मोहनराम सारण,सोहनलाल गोदारा,ओमप्रकाश सायच,पुरखाराम मूंड,भंवरलाल शर्मा, रेवन्तराम गोदारा, सरपंच भूरसिंह बीका,सरपंच भरत सोनी,सरपंच रामप्रताप जाखड़, सरपंच सीताराम गोदारा,पूर्व सरपंच प्रेमप्रकाश सारण, पूर्व उपप्रधान अजय गौड़ पंचायत समिति सदस्य मास्टर सुरजाराम ज्याणी, ओम गोदारा, कतरियासऱ के पूर्व सरपंच रामदयाल गोदारा,खेमाराम भादू सहित बङी संख्या में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व पार्टी कार्यकर्ता शामिल हुएं।