>


बीकानेर। बीकानेर के ट्रक ड्राईवर के साथ पिस्टल की नोक पर अज्ञात बदमाशों ने लूट को अंजाम दिया। जानकारी के अनुसार श्रीगंगानगर जिले के राजियासर पुलिस थाना क्षेत्र के बीरमाना गांव में बीती रात को लूटोरों ने पिस्टल की नोक पर बीकानेर के ट्रक ड्राइवर के साथ लूट की घटना को अंजाम दे डाला। घटना की सूचना पर राजिजयासर पुलिस मौके पर पहुंची और नाकाबंदी कर लूटोरों का पीछा किया, लेकिन सफलता नहीं मिल पाई। इस संबंध में परिवादी ने राजियासर पुलिस थाने में अज्ञात लूटोरों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। भंवरदास पुत्र माणकदास जाति साध उम्र 33 वर्ष निवासी गांव डाईयां पुलिस थाना नाल, जिला-बीकानेर का रहने वाला हूं। मैं सोमवार को मेरे ट्रेलर आरजे-07 -8032 में ईंट भरकर विजयनगर से बिरमाना की तरफ आ रहा था। रात्रि करीबन 9 बजे बीच रास्ते में एक छोटी गाड़ी (आरजे-13 सीसी 4591 नंबर की गाड़ी) आई और मुझे घेर लिया। इसके पश्चात छोटी गाड़ी में सवार दो तीन जनों में से एक बाहर निकला जिसके हाथ में सरिया था, उन्होंने मेरे ट्रक पर अंधाधुंध तरीके से वार किया और फिर मुझे ट्रक से खींचकर नीचे उतारा और बोला कि साहब बुला रहा है उनके पास जा। मैं छोटी गाड़ी के पास गया तो वहां पर एक व्यक्ति ने पिस्तौल मेरी कनपटी पर तान दी और मेरी ऊपर वाली जेब में से करीबन 6 हजार रुपए छीन और मेरे गले में पहनी सोने की चैन भी तोड़ ली। इतने में दूसरे व्यक्ति ने मेरे साथ लात-मुक्कों से मारपीट करने लगा। मैंने शोर मचाया तो आरोपियों ने पिस्तौल दिखाकर कहा कि चिल्ला मत, नहीं तो गोली चला देंगे। इसके पश्चात मेरे गाड़ी (ट्रक) के पीछे चल रही जानकारों की गाड़ी (ट्रक) आया तो बदमाश मौकास्थल से फरार हो गए। उक्त बदमाश शराब के नशे में धुत थे। मैंने जैसे-तैसे यह 100 नंबर डायल किया और पुलिस को पूरा घटनाक्रम बताया। इस दौरान पुलिस वालों ने मेरे को जवाब दिया कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है, राजियासर पुलिस आपके पास थोड़ी देर में पहुंच रही है। इसके बाद मैंने राजियासर पुलिस थाने के थानाधिकारी सुरेश कुमार को घटना की जानकारी दी। घटना की सूचना के बाद राजियासर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची।