>


बीकानेर। सरकार चाहे कितना भी जतन कर लें,किन्तु दबंग निजी स्कूल संचालकों को सरकारी आदेशों की अनुपालना करवाने में असहाय नजर आ रही है। ऐसे स्कूल संचालक गंभीर से गंभीर विषयों व सरकारी आदेशों को ही हवा कर देते है। जिसके चलते अभिभावकों व विद्यार्थियों को खासी परेशानी उठानी पड़ती है। इनमें से एक स्कूल है पिंक मॉडल। जिसके संचालक सरकारी आदेशों की अनुपालना की बजाय अपने नियम कायदों पर काम करते है। उनके इस हठधर्मी स्वभाव के चलते कई बार अभिभावकों व स्कूल संचालकों में कहासुनी की नौबत भी आ जाती है। आदेशों को न मानना स्कूल संचालकों की फिदरत सी हो गई है। चाहे गर्मी या सर्दी को लेकर जिला कलक्टर द्वारा समय समय पर जारी किये गये आदेश हो या स्वास्थ्य से संबंधित अभियान में सरकारी व महकमे की सहभागिता का सवाल हो। स्कूल संचालक हमेशा ही नकारात्मक रवैये से काम करते है। इसको लेकर अनेक बार अभिभावकों ने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालयों में शिकायत भी दर्ज करवाई है। किन्तु कार्यवाही के नाम पर परिणाम हमेशा ही नगण्य रहता है।
जिला कलक्टर की भी नहीं सुनते संचालक
जानकारी मिली है कि विगत महिनों में पड़ी तेज गर्मी के चलते जिला कलक्टर द्वारा स्कूल की जल्दी छुट्टी का आदेश हो या सर्दी में समय परिवर्तन की बात। पिंक मॉडल स्कूल संचालक इसकी अनुपालना करना अपनी शान के खिलाफ समझते है। दबी जुबां में अभिभावक अपनी बात को विभाग के अधिकारियों सामने रखते आएं है। परन्तु विभाग के अधिकारियों की चुप्पी भी सवालिया निशान लगा रही है।
अनेक बार मिले नोटिस
जानकारी मिली है कि इस स्कूल के संचालकों को कई बार नोटिस मिल चुका है। परन्तु स्कूल के संचालक राजनीतिक प्रभाव के चलते इन नोटिसों का जबाब तक नहीं देता। अगर देता भी है,ढुलमिल जबाब देकर इतिश्री कर लेता है।
चार स्कूल संचालकों को नोटिस
बच्चों को खसरा-रूबेला से मुक्त करने के लिए जिले में चल रहे टीकाकरण महाअभियान में सहयोग नहीं करने वाले चार निजी स्कूल संचालकों को जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। नोडल प्रभारी एवं आरसीएचओ डॉ. रमेश गुप्ता ने बताया कि बीकानेर के गिन्नाणी क्षेत्र के पिंक मॉडल स्कूल, चैखूंटी स्थित टैगोर मेमोरियल चिल्ड्रन स्कूल, रिडमलसर सिपाहियान का सिपाहियान स्कूल और श्रीडूंगरगढ़ के बिग्गा बास रामपुरा का सूर्या पब्लिक स्कूल शामिल है। इन स्कूलों ने अब तक अभिभावकों से सहमति भी नहीं ली और ना ही विभाग को जवाब दे रहे हैं। इन स्कूल संचालकों को नोटिस जारी किए गए हैं। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने बताया कि अभियान में सहयोग नहीं करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।