>


 बीकानेर। जिला कलक्टर नमित मेहता से कहा कि भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनने वाली सड़क के लिए भूमि अधिग्रहण तथा निर्माण कार्य निर्धारित समय पर हो जावे इसके लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण व सबंधित क्षेत्र के उपखण्ड अधिकारी समन्वय स्थापित कर कार्य करे। इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की जावे।
मेहता कलक्टर सभागार में मंगलवार को एन.एच.आई तथा तीनों उपखण्ड उपखण्ड अधिकारियों की समक्षा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत माला प्रोजेक्ट समय पर पूर्ण हो यह सरकार की प्राथमिकता में हैं।  ऐसे में आप सभी की यह  जिम्मेदारी बन जाती है कि इस कार्य में किसी भी स्तर विलम्ब ना हो। कास्तकारों को समझाईश कर भूमि का मुआवजा उनके खाते में जमा करवाने का कार्य करें।  साथ ही यह भी उन्हें बताये कि अगर सरकार स्तर भुगतान के लिए किसी तरह का बदलाव अगर होता है, तो उन्हे बदलाव के बाद भुगतान की  अन्तर राशि का भुगतान किया जायेगा।
जिला कलक्टर ने कहा कि इस प्रोजेक्ट में आने वाले काश्तकारों की भूमि अवाप्त करते समय मानवीय दृष्टि रखते हुए यह भी देखे किसी काश्तकार की भूमि अवाप्त होने के बाद अगर भूमि का कोई छोटा भाग बच जाता है तो उस टुकडे में किसान द्वारा खेती आदि की जानी संभव नही है, तो ऐसे में उस भूमि को भी मुआवजे शामिल करने के लिए साहनुभूतिपूर्वक विचार करें। उन्होंने उपखण्ड अधिकारियों से कहा कि ऐसे पाॅईंट का चिन्हीेकरण करने के लिये राजस्व विभाग के कर्मचारियों का सहयोग लिया जाए।
मेहता ने कहा कि जिन काश्तकारों की भूमि अधिग्रहण में आई है और वे मुआवजा राशि नहीं ले रहे हैं, ऐसे सभी व्यक्तियों को पहले समझाईश की जाए और अगर नहीं मानते हैं तो कानूनी कार्यवाही पूर्ण करते हुए पैसे न्यायालय में जमा करवाने की कार्यवाही की  जाए । उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों से कहा कि काश्तकारों की भूमि में लगे पेड़ों को काटने व नीलाम करने की कार्यवाही में भी कोई सर्वसम्मत निर्णय ले। उन्होंने उपखण्ड अधिकारियों से कहा कि जहां तक सम्भव हो काश्तकारों को भुुगतान की कार्यवाही 31 जुलाई 2020 तक करें।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ए.एच. गौरी, उपखण्ड अधिकारी बीकानेर रिया केजरीवाल, उपखण्ड अधिकारी लूनकरनसर भागीरथ साख एवं उपखण्ड अधिकारी नोखा रमेश देव तथा राष्ट्रीय राजर्माग प्राधिकरण के अधिकारी उपस्थित रहे।