>


श्रीगंगानगर/सादुलशहर। राजस्थान-पंजाब बॉर्डर से बड़ी खबर है। राजस्थान-पंजाब सीमा से सटे पंजाब के फाजिल्का जिले के अबोहर तहसील के गांव खाटवां में रविवार को दिन-दिहाड़े अज्ञात युवकों ने अकाली दल के वरिष्ठ नेता प्रहलाद न्यौल पर फायरिंग कर दी। फायरिंग के दौरान नेता प्रहलाद ने भागकर जान बचाई। फायरिंग की घटना के बाद क्षेत्र ने दहशत का माहौल फैल गया।
खेत में किसानों को भी मारी गोली
नेता पर फायरिंग के बाद सुरक्षा कर्मियों ने जवाबी फायरिंग की। लेकिन हमलावर वहां से भाग गए। सुरक्षा कर्मियों व ग्रामीणों ने हमलावरों का पीछा भी किया। पीछा करने के दौरान गाड़ी अनियंत्रित होकर खेतों में पलट गई, तब निकट खेत में काम कर रहे दो किसानों ने गाडी से निकलकर भाग रहे बदमाशों को पकडऩे का प्रयास किया तो उन्होंने किसानों पर भी फायरिंग कर दी, जिससे दोनों घायल हो गए। घायलों को ग्रामीणों ने अबोहर के चिकित्सालय में भर्ती करवाया, जहां उनका उपचार जारी है।
एक बदमाश ने खुद को मार ली गोली
मिली जानकारी के अनुसार गांव शेरेवाला के युवकों ने हिम्मत दिखाते हुए इन लोगों का पीछा किया तो इनमें से एक ने गांव वालों से घिरता देखकर अपने आप को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। एक बदमाश को ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया और बाकी भागने में सफल हो गए।
बदमाशों को ढूंढने का सर्च अभियान जारी
सूचना मिलने पर बहाववाला पुलिस चौकी व सादुलशहर पुलिस मौके पर पहुंची। इसके साथ-साथ फाजिल्का जिले के अन्य पुलिस थानों के कर्मी भी घटना स्थल पर पहुंचे। फाजिल्का के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी पुलिस दल के साथ हमलावरों की तालाश में खेतों में सघन सर्च अभियान चलाए हुए हैं।
नेता ने भाग कर बचाई जान
आरोपियों को पकडने के लिए राजस्थान पुलिस भी पंजाब पुलिस का सहयोग कर रही है। घटना सुबह करीब 8 बजे की बताई जा रही है, जब प्रहलाद न्यौल खाटवां अपने गांव में पीपल के पेड़ के नीचे ग्रामीणों के साथ बैठे थे, तभी अचानक एक गाडी तेज गति से आई बदमाशों ने नेता पर फायरिंग शुरू कर दी, तब उन्होंने भागकर जान बचाई।
राजस्थान पुलिस सतर्क
घटना के बाद राजस्थान पुलिस भी सतर्क हो गई है, पुलिस की ओर से राजस्थान सीमा में आने वाहनों की सघनता से तालाशी ली जा रही है। ग्रामीणों के हत्थे चढ़े एक आरोपी से बहाववाला पुलिस थाना की ओर से पूछताछ की जा रही है।