>



बीकानेर। कहते है जिसके भाग्य में राजयोग होता है,वह किसी न किसी तरह सता का भागीदार बन ही जाता है। कुछ ऐसा ही बीकानेर की श्रीडूंगरगढ़़ तहसील के दुलचासर पंचायत चुनाव में देखने को मिला। जहां उपसरपंच का चुनाव लड़ रहे अनेक जनों में से श्याम सुन्दर ओझा के लॉटरी लग गई और वे उपसरपंच बन गए। बताया जा रहा है कि इस पंचायत में कई वार्ड पंच उपसरपंच पद के दावेदार के रूप में सामने आएं। लेकिन सभी ग्रामवासियों ने एक राय होकर सहमति से उपसरपंच बनाने की बात की। जब बात नहीं बनी तो लॉटरी द्वारा उपसरपंच का चुनने का फैसला किया और सभी दावेदारों के नाम की पर्ची बनाकर लॉटरी निकाली गई। भाग्य ने श्याम सुन्दर ओझा का साथ दिया और वे दुलचासर के उपसरपंच पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुए। वहीं टेऊ लालूराम सारण,पांचू पंचायत समिति के बंधड़ा में लिछमा देवी,पांचू में शांति देवी डागा,नोखा पंस के सोमलसर में तारा देवी निर्विरोध उपसरपंच निर्वाचित हुई।