बीकानेर। दसवीं व बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं में विद्यार्थियों के मात्रात्मक व गुणात्त्मक परीक्षा परिणाम सुधार को लेकर बीकानेर शिक्षा निदेशालय मार्च में होने वाली मुख्य बोर्ड परीक्षा से पहले तीन प्री-बोर्ड परीक्षा करवाएगा। निदेशालय इस बार स्कूलों में तीन प्री-बोर्ड की परीक्षाएं होगी। इसमें एक स्कूल स्तर पर होगी। यह परीक्षा स्कूल को ही करवानी होगी। दूसरे ब्लॉक स्तर पर होगी। जिसमें ब्लॉक को जिम्मेदारी दी गई। इनके पेपर स्कूलों को खुद छपवाकर विद्यार्थियों की परीक्षाएं करवानी होगी। दोनों परीक्षाएं प्रिंसिपल अपने समय अनुसार करवा सकेंगे। तीसरी प्री-बोर्ड परीक्षा निदेशालय स्तर से होगी। इसके पेपर निदेशालय स्तर से जारी हुए है। यह परीक्षा 3 फरवरी से 12 फरवरी तक होगा। उसके बाद मार्च में मुख्य बोर्ड परीक्षा होगी। इधर, विद्यार्थी भी परीक्षाओं की तैयारी में जुट गए है।
टॉपर्स बच्चों की कॉपियां की अपलोड
निदेशालय स्तर से इस बार दसवीं व बारहवीं कक्षाओं में टॉपर्स रहे विद्यार्थियों की कॉपियां शाला दर्पण पोर्टल पर अपलोड की गई। स्कूल अपने स्तर पर इन कॉपियां की प्रिंट निकालकर विद्यार्थियों को बता सकते है। उन्होंने किस तरह से सवालों को हल किया। कहां उनके बेहतर अंक आए है, कहां उनकी गलती रही। इससे विद्यार्थी भी उसी अंदाज में सवालों को हर कर सके।
पोर्टल पर करना होगा नम्बर अपलोड
स्कूल व ब्लॉक स्तर पर प्री-बोर्ड परीक्षा होने के बाद स्कूलों को विद्यार्थियों के नम्बर शाला दर्पण पोर्टल पर अपलोड करना होगा। इससे निदेशालय स्तर पर बैठे अधिकारी भी देख सकेंगे। यदि विद्यार्थी क मजोर है तो उनके लिए अतिरिक्त कक्षाएं लगवाकर बेहतर अंक दिलवाने का प्रयास करेंगे।
मॉनिटरिंग के लिए प्रभारी अधिकारी लगाए
पिछले साल दसवीं व बारहवीं कक्षाओं में कमजोर परिणाम देने वाले स्कूलों पर निदेशालय की इस बार कड़ी नजर है। निदेशालय स्तर से इन स्कूलों में विद्यार्थियों की बेहतर पढ़ाई के लिए प्रभारी अधिकारी लगाए है। वे पूरी तरह से मॉनिटरिंग कर रहे है। बताया गया है कि पिछली बार कई स्कूल थे, जिनका परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा, लेकिन विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में 30 प्रतिशत ही उत्तीर्ण हुए है। साथ ही क मजोर परीक्षा परिणाम देने वाले स्कूल भी शामिल है।
इनका यह कहना
जिले में इस बार तीन प्री-बोर्ड परीक्षाएं होगी। दो प्री-बोर्ड परीक्षाएं स्कूल व ब्लॉक स्तर पर होगी। जबकि तीसरी निदेशालय स्तर से होगी। इसके लिये चोपड़ा स्कूल को प्रभार दिया गया है। सुनील बोड़ा, एडीईओ, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक