>



बीकानेर। आमतौर पर तो आपने अभी तक पीबीएम अस्पताल में पुत्र जन्म पर बधाई के नाम पर रूपये मांगने की बातें सामने आई है। किन्तु अब तो ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित स्वास्थ्य केन्द्रों व अस्पतालों में भी रूपये मांगने के मामले सामने आ रहे है। खुलासा को एक ऐसा ही विडियो मिला है जिसमें बच्चे के जन्म पर बधाई देने की बातें की जा रही है। हालांकि इस विडियो में आपस में बातचीत कर रही ग्रामीण महिलाएं किसी का नाम नहीं ले रही है कि आखिर रूपये कौन मांग रहा है। लेकिन उनकी आपसी बातें वहां के स्टाफ द्वारा रूपये मांगने की ओर इशारा कर रही है। ये विडियो नोखा तहसील के पांचू पंचायत के अस्पताल का बताया जा रहा है। जिसमें ग्रामीण महिलाएं जनाना वार्ड में बच्चे के जन्म पर छुट्टी होने पर पांच रूपये तक देने की बातें कर रही है।

 

 

जब हमने इस संदर्भ में चिकित्सा अधिकारी से सच्चाई जानने का प्रयास किया तो उन्होंने इससे अनभिज्ञता जताई। वहीं कुछ ग्रामीण महिलाओं ने स्पष्ट तौर पर दो एनएनएम द्वारा इस प्रकार रूपये मांगने की बात कही। उनका कहना है कि यहां स्थित ये एएनएम बिना बधाई के न तो सही तरीके से प्रसूताओं का इलाज करती है और न ही उनकी देखभाल की जाती है। ऐसे में राज्य सरकार द्वारा जच्चा और बच्चा के स्वास्थ्य को लेकर गंभीरता की बातें बईमानी लगती है।