>



रेलवे पांच साल में चलाएगा 1500 नई ट्रेन
-हर यात्री को कन्फर्म टिकट देने की योजना
श्याम मारू
बीकानेर। अगले पांच साल में भारतीय रेलवे हर यात्री को कन्फर्म टिकट देगा। किसी भी व्यक्ति जब भी यात्रा करने की इच्छा होगी, उसे कन्फर्म टिकट मिलेगा। भारतीय रेलवे अगले पांच साल तक इस योजना पर काम करेगा। हालांकि तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के समय यह यह योजना बनाई गई थी लेकिन इसके क्रियान्वयन में कभी गम्भीरता से काम नहीं किया गया। अर्से से लोगों की मांग रही है कि रेलगाडिय़ों में प्रतीक्षा सूची या तो खत्म होन चाहिए या नाममात्र की। रेलवे ने इस योजना पर इस बार गम्भीरता से कार्य आरम्भ कर दिया है और उम्मीद है कि वर्ष 2025 तक हर यात्री को कन्फर्म टिकट मिल सकेगा। इसके लिए रेलवे भी एयर लाइंस की तरह डायनमिक पद्धति से कि राया वसूलने की योजना पर काम कर रहा है।

कन्फर्म टिकट के संसाधन बढ़ाएगा रेलवे
यात्रियों को कन्फर्म टिकट देने के लिए अपने संसाधन बढ़ाने पड़ेंगे। इसके लिए रेलवे 1500 नई रेलगाडिय़ां चलाएगा। अगले पांच साल में इन 1500 नई रेलगाडिय़ों के संचालन के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इसके तहत रेल लाइनों का दोहरीकरण, तीसरी लाइन, विद्युतीकरण, अमान परिवर्तन एवं नई लाइन बिछाना आदि क्षमता संवर्द्धन का काम मार्च 2024 तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद चरण बद्ध तरीके से 1500 नई ट्रेन का संचालन किया जाएगा इसमें से 150 गाडिय़ों का स ंचालन निजी क्षेत्र की कम्पनियां संचालित करेगी। रेलवे इन दिनों 58 सुपर क्रिटिकल परियोजनाओं पर काम कर रहा है। इनमें से 8 परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं, शेष 50 योजनाओं का वर्ष 2022 तक काम पूरा हो जाएगा। पूरे देश का 60 से 70 प्रतिशत रेल यातायात इन्हीं खंडों पर संचालित किया जाता है। रेलवे की ओर से इन परियोजनाओं के लिए रणनीतिक रूप से 89 प्रतिशत राशि दी गई है। जम्मू कश्मीर और पूर्व उत्तर भारत में राष्ट्रीय महत्व की कुल चार परियोजनाओं के लिए 3800 करोड़ रूपए की राशि दी गई है।