>



खुलासा न्यूज़, बीकानेर। जिला प्रशासन एवं महिला अधिकारिता विभाग द्वारा मंगलवार को मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार की पहल पर बीकानेर जिले को घूंघट मुक्त करने हेतु अबै घूंघट नी अभियान का पोस्टर विमोचन जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम द्वारा किया गया।
जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में बेटी-बचाओं, बेटी-पढाओ योजनान्तर्गत अबै घूंघट नी अभियान के सम्बन्ध में बैठक आयोजित हुई। बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारी, गैर सरकारी संगठन, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिनिधित्व किया गया। गौतम ने कहा कि हम सभी को इस कुप्रथा को खत्म करना है, क्योंकि इस प्रथा ने नारी के व्यक्तित्व को कुंठित करने में योगदान दिया है। यह कुप्रथा हमारी संस्कृति नहीं है। उन्होंने कहा कि जिले के लिए विशेष कार्ययोजना बनाकर सभी विभागों एवं सामाजिक संगठनों द्वारा इसके रोकथाम के प्रयास किये जाएं।
महिला अधिकारिता विभाग उप निदेशक मेघा रतन द्वारा विभागवार कार्ययोजना पर चर्चा की गई, जिसमें बताया गया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों, स्कूल, कॉलेजों, ग्राम सभा इत्यादि पर विशेष कार्यक्रम एवं प्रस्ताव पारित कर इस अभियान को बढ़ाया जाएगा।
बैठक में जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव पवन कुमार अग्रवाल ने कहा कि विधिक जागरूकता शिविर में सामूहिक संकल्प दिलाकर इस कुप्रथा को रोकने के प्रयास किए जाएगें। बैठक में अभिषेक सुराणा प्रशिक्षु आईएएस द्वारा बैठक में उपस्थित सभी गैर सरकारी एवं सामाजिक संगठनों को भी इस अभियान में पूर्ण सहयोग हेतु आह्वान किया गया।
बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक शारदा चैधरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. मीणा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक एल.डी. पंवार सहित अन्य विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।
————-