>


अजमेर। राज्य के सभी लॉ कॉलेज सत्र 2020-21 से डॉ. भीमराव अम्बेडकर लॉ यूनिवर्सिटी के अधीन होंगे। यूनिवर्सिटी ने सभी कॉलेज और संबंधित विश्वविद्यालयों को पत्र भेज दिया है।
राज्य में 15 सरकारी और 80 निजी लॉ कॉलेज हैं। सरकारी लॉ कॉलेज में 125 रीडर और लेक्चरर कार्यरत हैं। निजी कॉलेज में कुछेक को छोड़कर अधिकांश में फेकल्टी कम हैं।
यूनिवर्सिटी ने भेजा पत्र
राज्य में अम्बेडकर लॉ यूनिवर्सिटी स्थापित हो चुका है. नियमों और एक्ट के अनुसार यूनिवर्सिटी को लॉ कॉलेज को सत्र 2020-21 में पाठ्यक्रम निर्माण, कैंपस कोर्स चलाने हैं। इनके अलावा लॉ कॉलेज की सम्बद्धता कार्य भी करना है। लिहाजा यूनिवर्सिटी ने सभी कॉलेज और विश्वविद्यालयों को पत्र भिजवा दिया है।
अभी कई यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध
सरकारी और निजी लॉ कॉलेज मौजूदा वक्त महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय, राजस्थान विवि, महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी बीकानेर, जयनारायण व्यास विवि जोधपुर और अन्य से सम्बद्ध है। इनमें तीन वर्षीय एलएलबी, दो वर्षीय एलएलएम, लेबर लॉ और क्रिमिनोलॉजी डिप्लोमा कोर्स संचालित हैं।
देरी से होते हैं प्रथम वर्ष में प्रवेश
हर साल अजमेर सहित नागौर, सीकर, सिरोही, बूंदी और अन्य लॉ कॉलेज में प्रथम वर्ष में दाखिले देरी से होते हैं कॉलेज शिक्षा निदेशालय प्रतिवर्ष बार कौंसिल ऑफ इंडिया की मंजूरी के बगैर दाखिले नहीं करने की शर्त लगाता है। यह सिलसिला 2005-06 से चल रहा है।