– नोखा थाना क्षेत्र का मामला
खुलासा न्यूज़, बीकानेर। कहते है कि डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है, पर जब डॉक्टर ही लापरवाह हो जाए तो जनता का क्या होगा। जिले में नोखा थाना क्षेत्र में एक प्राईवेट डॉक्टर की लापरवाह कार्यशैली के लिए मशहूर है, इनकी लापरवाही के कारण एक महिला की मौत हो गई।

मामला नोखा थाना क्षेत्र में स्थित चौधरी हॉस्पीटल का है, जहां श्रवणराम अपनी पत्नी कोमल को   इसी अस्पताल में लेकर आए था। वहां पर डॉक्टर ओमप्रकाश चौधरी व नर्स ने कोमल के पेट में चार-माह का मृत भ्रूण होना बताया और 40 हजार रुपए में ऑपरेशन करने और सही इलाज करने की गारंटी ली। परिजनों ने 40 हजार रुपए जमा कराने के बाद डॉक्टर चौधरी व नर्स संतोष ने इलाज शुरू कर दिया। 3 मार्च को विवाहिता की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई फिर भी डॉक्टर ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। महिला दर्द के मारे तड़पती रही , और परिजन गुहार लगाते रहे।  इसके बावजूद भी डॉक्टर ओमप्रकाश व नर्स का दिल नहीं पसीजा।

आरोप है कि जब विवाहिता की हालत नाजुक होने की स्थिति में डॉक्टर चौधरी ने बीकानेर पीबीएम अस्पताल ले जाने को कहा, यहां पर इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।  परिजनों का आरोप है कि डॉ. ओमप्रकाश चौधरी व नर्स संतोष की लापरवाही की वजह से कोमल की मौत हुई। इसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी डॉक्टर चौधरी व नर्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।