बीकानेर। पिछले काफी दिनों से अपराधों के मामले में चर्चित थाना नयाशहर थाना के एक ओर कारनामा सामने आया है। नयाशहर थाने में कर्मचारियों के पास थानाधिकारी के फोन नंबर तक उपलब्ध नहीं है ये बड़ी विडम्ना है कि ये थाना बहुत ही संवदेनशील है लेकिन थानाधिकारी के नंबर नहीं होना बड़ी ही लापरवाही की बात है। रविवार रात को एक मामले को लेकर जब नयाशहर थाने में जानकारी लेनी चाही तो पहले तो उन्होंने साफ मना कर दिया कि ऐसा कोई मामला ही नहीं है। जबकि मारपीट के मामले मे घायल को पीबीएम अस्पताल में भर्ती तक कराया दिया। जानकारी ऐसी मिली है पीडि़त पक्ष ने पुलिस को सूचना भी दी लेकिन पुलिस मौके पर नहीं पहुंची और घटना से पल्ला झड्ती नजर आई। फिर जब थाने से जानकारी लेनी चाही तो मना कर दिया जब पूछा कि थानाधिकारी के नंबर दो तो फोन पर बैठा एक पुलिसकर्मी ने कहा कि थानाधिकारी नये है तो हमारे पास नंबर नहीं है पुलिसकर्मी कोई वीरेन्द्र नामक व्यक्ति था। अगर ऐसी लापरवाही रहती है और क्षेत्र में कोई बड़ी घटना घट जाये तो थाने में बैठे पुलिसकर्मी अपने थानाधिकारी को कैसे सूचना देंगे। कई बार ऐसा देखने को मिलता है कि पुलिस को सूचना होने के बाद भी पुलिस घटना के बाद ही मौके पर पहुंचती है। जब इस बारे में थानाधिकारी से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि मेरे नंबर तो थाना स्टाफ के सभी के पास है सीओजी नंबर है ये तो अगर मना किया है तो मै बात करता हुूं। इस प्रकार की लापरवाही से ही तो बड़ी घटना के बाद भी पुलिस के उच्चधिकारियों तक मामला पहुंचने में देर लगती है।