>




6 साल की बच्ची ने जिला कलक्टर को लगाई गुहार

बीकानेर। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम की संवेदनशीलता और सहृदयता की खबरंे सुन उनकी मुरीद बनी एक छोटी बच्ची गुरूवार को जिला कलक्टर कार्यालय पहुंच गई और जिला कलक्टर से मिल अपने मोहल्ले में सड़क तथा नाली दुरुस्त करवाने की गुहार लगाई।
रेखा गहलोत नाम की छह वर्ष की बच्ची ने कलक्टर कक्ष के बाहर खड़े होकर जिला कलक्टर से मिलने का इंतजार किया और जैसे ही कलक्टर साहब बाहर निकले तब उनसे पूछा कि क्या वे जिला कलक्टर हैं। इस पर जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने रुक कर बच्ची की पूरी बात सुनी और समस्या के समाधान के लिए तुरंत अधिकारियों को निर्देशित किया। रेखा गहलोत ने जिला कलक्टर को बताया कि पुरानी गिन्नानी स्थित कान सिंह जी का डेरा के पास सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो जाने के कारण आने जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नालियां भी टूटी है इस कारण गंदा पानी सड़क पर फैला रहता है। उसने बताया कि उसके नानाजी कीचड़ में गिर गए और उन्हें काफी चोट लगी फिलहाल उनका इलाज चल रहा है। छोटी सी बच्ची ने जिला कलक्टर से अपने मोहल्ले की सड़क के नवीनीकरण की मांग करते हुए कहा कि सड़क काफी जर्जर स्थिति में है और बरसात के मौसम में तो हालात और भी खराब हो जाते हैं। उसने जिला कलक्टर से अविलम्ब सड़क तथा नालियां दुरूस्त करवाने की मांग की। बच्ची ने कहा कि मोहल्ले के चारों तरफ की सड़कों का नवीनीकरण हो चुका है केवल उनका ही मोहल्ला इससे वंचित रहा है।
गंभीर रोग से ग्रसित है आवारा श्वान
बच्ची ने एक और ज्ञापन में जिला कलक्टर से अपने मोहल्ले तथा आसपास के क्षेत्र में घूम रहे आवारा श्वान पकड़वाने का भी आग्रह किया। उसने बताया कि इन आवारा श्वान के शरीर से चमड़ी उतर रही है और खून निकल रहा है इन्हें कोई गंभीर स्किन डिजीज है। उसने बताया कि ये बच्चों और बुजुर्गों को चोटिल कर सकते हैं साथ ही इनकी गंभीर बीमारी से भी कोई वायरस फैल सकता है। जिला कलक्टर गौतम ने पूरी संवेदनशीलता के साथ बच्ची की बात को सुना और समस्या के शीघ्र समाधान का आश्वासन दिया।
इसके बाद जिला कलक्टर ने नगर निगम आयुक्त और नगर विकास न्यास को फोन कर समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए, साथ ही कहा कि गलियों में घूम रहे आवारा श्वान शीघ्र अति शीघ्र पकड़े जाएं।