>


खुलासा न्यूज़ बीकानेर। भारत में मॉब-लिचिंग की बढ़ती घटनाओं के विरोध में शुक्रवार को मुस्लिम समाज द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसमें सर्व मुस्लिम समाज बीकानेर Bikaner Muslim Samaj  की ओर से राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व गृहमंत्री के नाम से जिला कलेक्टर बीकानेर को ज्ञापन दिया गया।

जिसके अन्तर्गत वन-उम्माह तंजीम, बीकानेर के सदर एडवोकेट जावेद कल्लर ने बताया कि हाल ही में झारखण्ड में एक मुस्लिम युवक तबरेज अंसारी को भीड़ द्वारा 18 घण्टे तक पीटा गया तथा जबरन विशेष धार्मिक नारे लगवाये गये और फिर उसकी पुलिस हिरासत में मौत हो गई। इससे पूर्व भी भारत में 56 व्यक्तियों की मॉब लिचिग में हत्या हो चुकी है तथा कई गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं।

एडवोकेट कल्लर ने बताया कि हमारी सरकार से मांग है कि भारत में इस तरह की घटनाओं पर पूर्णत: अंकुश लगाकर भारत की धर्मनिरपेक्षता, एकता, अखण्डता, अमन व भाईचारे को कायम कर भारत के विकास के लिये कदम उठाकर लोकतंत्र को बचाया जा सके। जो लोग धर्म के नाम पर ऐसे कृत्य करते हैं उन संस्थाओं पर पूरी तरीके से बैन लगाया जाये।

प्रदर्शन के दौरान गुलाम मुस्तफा, मोहम्मद इरशाद कासमी (जमीयत उलेमा ए हिन्द के सदर), मौलाना इमरान मजहरी, उमरदराज पठान, आजम अली कायमखानी, मोहम्मद सदीक, मोहम्मद अजीज, रमजान के.के., जफर अली लाड़, सिकन्दर खान, इनायत कुरेशी, मोहम्मद इरशाद, मोहम्मद रमीज, अकरम कोहरी, सलमान पंवार, खुशी मोयल, फैजान समेजा, महबूब कायमखानी, जहीर खान मोयल, महमूद खान, इमरान के.के., जफर खान, माशुक भाई, साजिद खान, अकरम खान, राजस्थान भीम सेना के बीकानेर के जिलाध्यक्ष एडवोकेट लालचन्द मेघवाल वीर बहादुर, सोहन द्रविड, राहुल अम्बेडकर, मनोज जनागल, वामसेफ के दिनेश मोरसिया, राजकुमार हटीला, राजन मेघवाल, प्रफुल्ल हटीला, मगनाराम केडली तथा हजारों की तादाद में मुस्लिम समाज के गणमान्य उपस्थित थे।