>


बीकानेर। जिले के छतरगढ़ थाना क्षेत्र में शुक्रवार रात को पानी के कुंड के लिए मिट्टी की खुदाई करते समय मिट्टी धंस गई, जिससे दो श्रमिक मिट्टी में धंस गए। हादसे के बाद ग्रामीणों श्रमिकों को निकालने की मशक्कत की। हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से दोनों को बाहर निकलवाया तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस शवों को स्वास्थ्य केन्द्र की मोर्चरी में रखवाया।छतरगढ़ एसएचओ सुरेन्द्र कुमार बारुपाल ने बताया कि राजासर भाटियान गांव में महावीर जाट के घर पर पानी की कुंडी के लिए शुक्रवार को जमीन में खुदाई की जा रही थी। इसी दरम्यिान मिट्टी धंस गई, जिससे महावीर जाट (35) एवं ओमप्रकाश आचार्य (37) दब गए। पुलिस व ग्रामीणों ने करीब दो घंटे की मशक्कत से दोनों को बाहर निकाला तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव स्थानीय स्वास्थ्य केन्द्र की मोर्चरी में रखवाया। शनिवार को पुलिस ने दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया।
घरों में नही जले चूल्हे
हादसे की सूचना मिलने पर शुक्रवार रात को गांव में शोक की लहर छा गई। कई घरों में चूल्हे तक नहीं जले। ग्रामीणों दोनों के मृतकों के निवास पर एकत्रित हो गए। उन्होंने परिजनों को ढांढ़स बंधाया।