खुलासा न्यूज़, नोखा । राजस्थान विधानसभा बजट सत्र 2020 में बुधवार को राज्यपाल अभिभाषण पर चर्चा में भाग लेते हुए नोखा विधायक बिहारीलाल बिश्नोई ने राजकीय बागड़ी चिकित्सालय नोखा में रिक्त पदों को भरने व रक्तकोष, सोनोग्राफी सुविधा चालू करने, कर्जमाफी, नोखा आयुर्वेद चिकित्सालय को ए ग्रेड में क्रमोन्नत करके स्टाफ सहित चालू करने, अभावग्रस्त गांवों को आदान-अनुदान में न जोडऩे, मांडेलिया में हो रहे अवैध खनन, व कोलायत में रॉयल्टी के नाम पर ट्रांसपोर्टरों से अवैध वसूली, पीएम आवास में अनियमितताओं, पंचायत पुनर्गठन में पक्षपात करने, कृषि सुपरवाईजर व सहायक कृषि अधिकारी में चयनितो का पदस्थापन करने, कृषि उपज मण्डी नोखा से स्वीकृति सड़कों को निरस्त करने, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत संविदा पर कार्यरत आयुष चिकित्सको (आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, यूनानी) को नियमित करने सहित विभिन्नों मुद्दों पर राज्य सरकार का ध्यान खींचा । बिश्नोई ने कहा कि महात्मा गांधी व डॉ. भीमराव अम्बेडकर का नाम लेकर इस अभिभाषण की शुरूआत की गई और डॉ. भीमराव अम्बेडकर जिन्होने सबसे पहले कहा था कि धार्मिक आधार पर उत्पीडि़त पाकिस्तान से आने वाले शरणार्थी हमारे भाई है उन्हे हिन्दुस्तान में नागरिकता दी जानी चाहिए और उससे अगले ही दिन राज्य सरकार सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाकर सरकार ने महात्मा गांधी व डॉ. भीवराव अम्बेडकर की भावना से साथ खिलवाड़ किया गया ।
उसी दिन एक ओर विधेयक लाया गया जो केन्द्र का 126 वां संविधान संशोधन का विधयेक था जिसमें एससी एसटी आरक्षण को 10 वर्ष बढाया जाना था । जो समय सीमा थी उस समय सीमा के अन्तिम दिन ये विधेयक लाया गया । जिससे यह पता चलता है कि दलित व वंचित वर्ग के प्रति राजस्थान की कांग्रेस सरकार कितनी गम्भीर है ये पता चलता है । बिश्नोई ने कहा कि सत्ता पक्ष के विधायक एवं सरकार के मंत्री खूब पानी पी-पीकर कोषते है कि भारतीय जनता पार्टी आरक्षण को समाप्त कर देगी और आरएसएस आरक्षण के खिलाफ है । आप उस संगठन को कोषते हो जो डॉ अम्बेडकर के विचार के साथ आज भी चलता है, डॉ अम्बेडकर का सपना था जातिविहीन समाज की स्थापना करने का उस सपने को साकार करने के लिए कोई पूर्ण मनोयोग से लगा है वो संगठन आरएसएस है । एक मात्र संगठन है जिसमें जाति से किसी की पहचान नहीं होती । नाम व काम से पहचान होती है । अटल बिहारी वाजपेयी की केन्द्र सरकार ने ही सबसे पहले प्रमोशन में आरक्षण देने का काम किया था । श्री बिश्नोई ने कहा कि 14 वित्त आयोग ने पंचायतीराज के लिए जो पैसा भेजा गया था वो पैसा राज्य सरकार ने अभी तक पंचायतो को जारी नहीं किया ।

ग्राम स्वराज का सपना कैसे साकार होगा ?
बिश्नोई ने सरकार पर पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पंचायत परिसीमन में जो मापदण्ड सरकार ने जारी किये थे उसी मापदण्ड को पूर्ण करने के बावजूद जसरासर को पंचायत समिति नवसृजन नहीं किया गया । नोखा व पांचू पंचायत समितियों का पूनर्गठन नहीं किया गया । इसके अलावा घट्टू, बनिया, मैयासर, मुन्दड़, मूंजासर आदि गांवों को मापदण्ड पूर्ण होने पर भी ग्राम पंचायत नहीं बनाया गया । बिश्नोई ने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत संविदा पर कार्यरत आयुष चिकित्सको (आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, यूनानी) को अभी तक नियमित नहीं किया गया है । कोटा में 112 नवजात बच्चों की मौत हुई और बीकानेर पीबीएम अस्पताल में 162 नवजात बच्चे काल कवलित हो गये लेकिन अभी तक सरकार ने जिम्मेदारियां तय नहीं की । अभी भी व्यवस्थाएं नहीं बदली । भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना जो अच्छी तरह से चल रही थी जो वर्तमान सरकार के समय मे दम तोड़ रही है । ये सरकार केंद्र की स्वास्थ्य के क्षेत्र में महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना को ढंग से लागू नहीं कर पा रही है । बिश्नोई ने कहा कि राज्य सरकार ने घोषणा की है कि जनता क्लिनिक खोले जायेगें । हमारे नोखा शहर में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सोनोग्राफी (विद रेडियोलॉजिस्ट) मशीन स्वीकृति की मांग लम्बे समय से की जा रही है, स्थाई स्त्री रोग विषेशज्ञ, सर्जन के पद रिक्त है । रक्तकोष स्वीकृत होने के बावजूद पद रिक्त होने पर चालू नहीं किया जा रहा है । बिश्नोई ने कहा कि हमारे नोखा में बी श्रेणी का आयुर्वेद चिकित्सालय है । नोखा के दानदाता ओमप्रकाश गट्टाणी जो पूर्वोत्तर में व्यापार करते है । उन्होने अपने पिताजी स्व. खूमंचद गट्टाणी के नाम से जो ट्रस्ट है उससे करोड़ो की जमीन दान देकर उस पर लगभग 5 करोड़ की लागत से ए श्रेणी का आयुर्वेद चिकित्सालय हेतु सभी सुविधाओं से युक्त भवन बनाकर सरकार को सुपुर्द किया है । श्री ओमप्रकाश गट्टाणी वो शख्सियत है जिन्हे अभी हाल ही में ब्रिटिश पार्लियामेंट (हाउस ऑफ कॉमन्स) लंदन में ”भारत गौरव सम्मान” पुरस्कार से सम्मानित किया गया । जिससे नोखा ही नहीं अपितु राजस्थान का नाम रोशन हुआ । इस चिकित्सालय को क्रमोन्नत करने को लेकर प्रश्न लगाया तो उसमें आउटडोर 150 नहीं होने का कारण बताकर क्रमोन्नत नहीं होने जबाव दिया । सरकार से मांग है कि इसे क्रमोन्नत किया जाए और चिकित्सकों की वृद्धि होने से आउटडोर भी बढ जायेगा। बिश्नोई ने मांग करते हुए कहा कि किसान कल्याण कोष को टिड्डी हमले से प्रभावित किसानों में बांटा जाये । कृषि सुपरवाईजर व सहायक कृषि अधिकारी भर्ती में चयनितों की सारी प्रक्रिया पूरी होने के बावजूद अभी तक पदस्थापन नही दिया गया है । उन्हे पदस्थापित किया जाये । बिश्नोई ने कहा कि इस सरकार के गत एक साल में कृषि उपज मण्डी नोखा से एक किमी. सड़क भी नहीं बनाई है और भाजपा सरकार में स्वीकृति सड़कों को भी निरस्त कर दिया गया है । कर्ज माफी के नाम पर सरकार ने कुछ नहीं किया । बिश्नोई ने कहा कि मांडेलिया गांव में अवैध खनन व विस्फोट से गांव पीडि़त है लेकिन अधिकारियों को कई बार अवगत करवाने के बावजूद अभी भी कोई कार्यवाही नहीं की गई । कोलायत क्षेत्र में खनन माफियों द्वारा रॉयल्टी के नाम पर ट्रांसपोटर्र को परेशान करते है और अधिकारियों के मध्यस्ता से लिखित समझोता होने के बाजवूद ट्रांसपोटर्र को परेशान किया जा रहा है । सरकार इस पर ध्यान दे । प्रधानमंत्री आवास में हुई अनियमितता की जांच की जाये और वंचित पात्र व्यक्तियों को सूची में जोड़ा जाये ।