बीकानेर। जेएनवीसी पुलिस थाने में नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर उसके साथ दुष्कर्म करने का मामला दर्ज हुआ है। जिसकी जांच थानाधिकारी गोविंदसिंह कर रहे है। पीडि़ता के पिता ने पुलिस को रिपोर्ट देते हुए बताया कि उसकी नाबालिग पुत्री कोचिंग सेंटर में पढ़ाई करती है। २६ फरवरी को कोचिंग सेंटर से परिवादी के पास फोन आया कि आपकी पुत्री आज कोचिंग सेंटर नहीं पहुंची। तब परिवादी तथा उसका पुत्र दोनों पुत्री की तलाश शुरू की। इस दौरान उसकी पुत्री जयनारायण व्यास कॉलोनी में चल रहे एक कैफे के बाहर खड़ी मिली। वहां से लड़की को घर ले गए और पूछताछ तो बताया कि इंद्रजीत शेरगील नाम का एक लड़का है जो उसे मीठी-मीठी बातों में लेकर बहला-फुसलाकर बातें करता था तथा कहता था कि वह उससे शादी करेगा। इसी दौरान आरोपित ने लड़की को एक मोबाइल फोन भी दे दिया ओर दबाव बनाया कि उसे अश्लील-नंग्री तस्वीरें भेजे। इस पर लड़की ने ऐसी तस्वीरें भेजने से साफ इनकार करते हुए बात करना बंद कर दिया। लेकिन आरोपित ने लड़की को फिर से मीठी-मीठी बातों में लेकर अपने जाल में फंसा लिया। जिस पर लड़की ने आरोपी के विश्वास में आकर अपनी नग्न तस्वीरें आरोपी के मोबाइल पर भेज दी। उसके बाद आरोपी ने लड़की को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और कहता था कि वह उसे जहां भी बलाएगा वहां वह आएगी और नहीं आएगी तो उसकी नग्न तस्वीरें लोगों को दिखाएगा। इस डर के मारे लड़की आरोपी का कहना मानने लगी।
आरोप है कि १२ तथा १५ फरवरी को जयनारायण व्यास कॉलोनी स्थित कैफे में एक केबीन इन्द्रजीत ने बुक किया था। जहां आरोपी ने लड़की को केबिन में बुलाकर उसके साथ बलात्कार किया।
परिवादी का आरोप है कि आरोपी इन्द्रजीत शेरगिल ने चालाकी से उसकी पुत्री को बहला-फुसलाकर उसके साथ बलात्कार किया तथा नग्न तस्वीरें वायरल करने की धमकी देकर उसको ब्लैकमेल करता रहा। आरोप है कि उसकी पुत्री ने यह बात इतने दिनों तक इसलिए नहीं बताई क्योंकि आरोपी इन्द्रजीत शेरगिल ने उसकी पुत्री को भंयकर रूप से अपने प्रभाव में ले रखा था। परिवादी का आरोप है कि इस अपराध में इन्द्रजीत शेरगिल के भाई तथा उसकी मामी ने भी इन्द्रजीत का सहयोग किया है। परिवादी की रिपोर्ट पर आरोपित इन्द्रजीत शेरगिल व इन्द्रजीत शेरगिल के भाई पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।