>

बीकानेर।उदारीकरण, निजीकरण तथा सार्व-भौमिकरण होने के साथ ही प्रभावी प्रबंधकों के लिए अनेक अवसर उपलब्ध हो गए हैं। अधिकाधिक बहुराष्ट्रीय कंपनियां भारत में आ रही हैं और अनेक भारतीय कंपनियां विदेश में संयुक्त उद्यम के लिए जा रही हैं। इससे योग्य प्रबंधकों को संगठनों के चलाने तथा उनके प्रबंधन के लिए करियर के आकर्षक विकल्प खुलते जा रहे हैं। इस क्षेत्र में अत्यधिक कुशल व्यवसायियों की आवश्यकता के साथ-साथ प्रबंधन स्नातकों की व्यापक मांग रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए बीटीयू ने एमबीए का इंडस्ट्री आधारित पाठ्यक्रम विषय विशेषज्ञों द्वारा तैयार करवाया है ये विचार बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के अकादमिक निदेशक डॉ. यदुनाथ सिंह ने विश्वविद्यालय के मैनेजमेंट संकाय की तीसरी बोर्ड ऑफ़ स्टडीज की बैठक में विशेषज्ञों के समक्ष व्यक्त किये l डॉ सिंह ने नैतिक मूल्यों, इंडस्ट्री इंस्टिट्यूट इंटरेक्शन, कार्य करने की प्रवत्ति और राष्ट्र के विकास पर आधारित पाठ्यक्रम को समय की मांग बताया. उन्होंने वर्तमान कॉर्पोरेट जगत के अनेकानेक केस स्टडीज के माध्यम से विशेषज्ञों को समझाया कि मानव संसाधन का प्रबंध ही वास्तविक प्रबंध और स्वयं को मैनेज करना ही सबसे बड़ा मैनेजमेंट है l

प्रो. सिंह ने बताया कि एमबीए के इंडस्ट्री आधारित पाठ्यक्रम हेतु विशेष पाठ्यक्रम निर्माण समिति में डॉ गौरव बिस्सा को चेयरमैन बनाया गया है. मानव संसाधन प्रबंध के क्षेत्र में अजमेर के डॉ अमित शर्मा, वित्त प्रबंध के क्षेत्र में बीकानेर के डॉ नवीन शर्मा, मार्केटिंग के क्षेत्र में जोधपुर के डॉ अभिषेक सोनी व डॉ शीतल सोनी, तथा प्रायोगिक विषयों के अध्यापन के क्षेत्र में विश्वविद्यालय की डॉ हेम आहूजा व डॉ अलका स्वामी को प्रभारी नियुक्त किया गया है l

आज हुई बैठक में विश्वविद्यालय के प्रबंध संकाय की कार्ड ऑफ़ स्टडीज के चेयरमैन व अभियांत्रिकी महाविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ गौरव बिस्सा ने बताया कि बैठक में सर्वसम्मति से एमबीए तृतीय व चतुर्थ सेमेस्टर के पाठ्यक्रम का सिलेबस पारित किया गया. उन्होंने बताया की अब विद्यार्थी विश्वविद्यालय के प्रबंध पाठ्यक्रम में विशेषज्ञता के लिए उपलब्ध क्षेत्रों फाइनेंस, मार्केटिंग, बिज़नस एनालिटिक्स, उद्यमिता, मानव संसाधन इत्यादि के क्षेत्र में विशेषज्ञता के साथ एम.बी.ए. कर सकते हैं l बीकानेर तकनिकी विश्वविद्यालय राजस्थान का एकमात्र सरकारी तकनीकी विश्विद्यालय होगा जिसमें प्रबंध संकाय में विशेषज्ञता में बिज़नस एनालिटिक्स के क्षेत्र में विद्यार्थी एम.बी.ए. कर सकेंगे l

इन्हें किया सम्मानित :

अकादमिक निदेशक डॉ. यदुनाथ सिंह ने बताया की प्रबंध संकाय के सिलेबस निर्माण में सैंकड़ों विषयों के निर्माण में जुटी टीम का तय समय में सिलेबस निर्माण करना प्रबंधन का सही उदाहरण है l बीकानेर तकनिकी विश्वविद्यालय द्वारा प्रबंध संकाय की बोर्ड ऑफ़ स्टडीज के तीन सदस्यों को जिसमे अभियांत्रिकी महाविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. नवीन शर्मा, व्यास इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, जोधपुर के डॉ अभिषेक सोनी तथा अभियांत्रिकी महाविद्यालय अजमेर के डॉ अमित शर्मा को इंडस्ट्री आधारित पाठ्यक्रम तय समय में पूरा करने हेतु प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया l