>


बीकानेर। वैसे तो सभी विषयों के अपने अपने मायने होते है। दसवीं परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद विद्यार्थी अपने रूचि अनुरूप विषयों का चयन करते है। लेकिन ऐसे कई विषय है,जिनमें अध्यापन की पारंगतता कम ही नजर आती है। उनमें से वाणिज्य संकाय का बीएम (व्यवसाय अध्ययन/प्रबंध) भी एक है। इस विषय में अपनी माहरत हासिल करने वाले लियाकत सर का इस वर्ष का भी परिणाम भी सर्वोत्तम रहा है। 12 वीं वाणिज्य वर्ग के घोषित परिणाम में लियाकत सर के पास अध्ययनरत हितेश सुथार ने इस विषय में 99,दीपक शर्मा ने 97,राघव स्वामी ने 90,निशा सुथार ने 89 तथा बजरंग सोनी ने 87 अंक प्राप्त किये। इन विद्यार्थियों ने इसका श्रेय लियाकत सर को दिया है। लियाकत सर ने बताया कि बीएम का पेपर कोरोना के कारण रद्द हो गया तो तो मेरे लिए सबसे बड़ी चुनौती बच्चों को पाठ्यक्रम याद करवाना और उन्हें कोरोना काल में नकारात्मकता से बचाना था।तो इसके लिए मैने लाइव क्लासेज के जरिये पाठ्यक्रम को जारी रखा तथा सकारत्मक सोच के लिए प्रेरित किया। जिसके परिणाम स्वरूप ही आज संस्थान का परिणाम सर्वोत्तम है।