खुलासा न्यूज, बीकानेर। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल दो दिवसीय बीकानेर दौरे पर आए है। जिले में विकास कार्य नहीं होने के विरोध में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल को शनिवार को काले झंडे दिखाए गए। कलेक्टरी में विरोध प्रदर्श कर रहे भारतीय जनता युवा मोर्चे के कार्यकर्ताओं ने धारीवाल व ऊर्जा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला के खिलाफ काफी देर तक नारेबाजी की और बाद में जब धारीवाल निकले तो काले झंडे दिखा दिए। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने भाजयुमो कार्यकर्ताओं को सख्ती के साथ किनारे कर दिया। दो दिन के दौरे पर बीकानेर आये यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने सुबह नगर विकास न्यास की योजनाओं का लोकार्पण करने के बाद रेलवे क्रासिंग, रतन बिहारी पार्क और सूरसागर का दौरा किया। इसके बाद जब वो एक मीटिंग में हिस्सा लेने कलक्टरी पहुंचे तो भाजयुमो के कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे गए। काफी देर तक बाहर नारेबाजी करते रहे। इस दौरान अंदर जाने का प्रयास किया तो पुलिस ने रोक दिया। भाजयुमो के शहर अध्यक्ष वेद व्यास के नेतृत्व में काफी देर तक नारेबाजी होती रही। एक दो बार माहौल तनावपूर्ण भी हुआ लेकिन बाद में संभाल लिया। धारीवाल मीटिंग करके बाहर आए तो कुछ देर के लिए काले झंडे दिखाये गए। धारीवाल ने इस पर ज्यादा गौर नहीं करते हुए आगे निकल गए।
भाजयुमो के शहर अध्यक्ष वेद व्यास का कहना है कि बीकानेर में पिछले दो साल से विकास कार्य ठप है। सभी तरह सडक़े टूटी हुई है। नगर विकास न्यास के पार्क बदहाल है। न्यास की हालत ये है कि प्लॉट बेचकर करोड़ों रुपए कमाये जा रहे हैं लेकिन शहर की जनता की सुविधा पर खर्च नहीं हो रहे हैं। शहर की रेलवे क्रासिंग समस्या का निराकरण नहीं हो रहा। वसुंधरा राजे ने जिस सूरसागर की सफाई करवाई, उसके प्रति कांग्रेस का उपेक्षापूर्ण व्यवहार है। मंत्री के आने की सूचना पर कल पानी डालकर नौटंकी की जा रही है।