>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। राजस्थान में पल-पल राजनीतिक घटनाक्रम बदल रहा है। अगर राजस्थान में 19 सीटों पर उपचुनाव हो तो सचिन पायलट थर्ड फ्रंट के साथ चुनावी समर में उतर सकते है। फिलहाल पायलट गुट हर- तरह से रणनीति बना रहा है। जाट बेल्ट नागौर पर विशेष फोकस रहेगा। यहां आरएलपी से सचिन पायलट गठबंधन कर सकते हैं। अगर ऐसा होता है कि मारवाड़ में पायलट-बेनीवाल व डूडी की की जोड़ी एक साथ नजर आ सकती है। बता दें कि हनुमान बेनीवाल लगातार पायलट के पक्ष में बोल रहे है।
वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रामेश्वर डूडी आलाकमान से संपर्क में हैं। हालांकि कुछ लोगों का मानना है कि पिछले कुछ समय से रामेश्वर डूडी की सचिन पायलट से नजदीकियां बढ़ गई, लेकिन सचिन के इस कदम में डूडी की कितनी शह है, इसे लेकर अभी कुछ स्पष्ट नहीं है, लेकिन अशोक गहलोत ने गोविंद डोटासरा को अध्यक्ष बनाकर रामेश्वर डूडी की नाराजगी बढ़ाने का ही काम किया है। वह भी उस समय में जब वे डूडी को साध सकते थे। रामेश्वर डूडी प्रदेशाध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे।