>


बीकानेर। श्रीडूंगरगढ़ खंड के उपखंड गांव समंदसर में बिजली के खंभों में करंट प्रभावित होने से 2 गायों की मौत होने के बाद आक्रोशित ग्रामीण रात को धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों का कहना है कि सूचना के बावजूद विद्युत निगम का कोई अधिकारी अभी मौके पर नहीं पहुंचा। शुक्रवार की रात को 9:30 बजे गांव में हल्की बारिश हुई थी और इस बारिश के दौरान गांव के धर्म कांटा के पास चौपाल में लगे सिंगल फेस के ट्रांसफार्मर के खंभे करंट आने लगा और इसकी चपेट में आने से दो गायें मर गई। एक गाय घायल हो गई। इस पर ग्रामीणों ने जीएसएस पर कार्यरत कार्मिक को सूचना देकर गांव की बिजली सप्लाई बंद करवाई। लेकिन कर्मचारी ने लापरवाही से शटडाउन को बिना सूचना के वापस लगा दिया। इससे बड़ी जनहानि हो सकती थी।
उस दरिम्यान ग्रामीण मौके पर मरी हुई गायों को हटाने के लिए तैयार थे, लेकिन सुबह-सुबह तक इंतजार करने के बाद निगम के कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। ऐसे में ग्रामीण सेरूणा थाने निगम के अधिकारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे, जहां पुलिस समझाईश की, किन्तु मामला सुलझ नहीं पाया। ग्रामीण जीएसएस के कार्मिक को हटाने पर अड़ गए। अंत में निगम के अधिकारी मौके पर पहुंचे और जीएसएस के कार्मिक को हटाया, जब जाकर ग्रामीणों ने मरी हुई गायों को उठाने दिया व धरना खत्म किया।
साथ ही ग्रामीणों ने धरना स्थल पर पहुंचे निगम के अधिकारियोंं को अवगत करवाया कि बिजली खंंभोंं की पिछले लम्बे समय से सार-संभाल नहीं, ऐसे मेंं बारिश के समय इन खंभो मेंं करंट आ रहा है। इस पर अधिकारियोंं ने ग्रामीणों का अश्वासन दिया कि लाईनों व संभों की सार-संभाल की जाएगी।