>




खुलासा न्यूज,बीकानेर। जिले के नोखा से भाजपा विधायक बिहारी लाल विश्नोई एक बार फिर अपने शायरना अंदाज में नजर आएं और अपनी क्षेत्र की समस्या के ध्यानाकर्षण के लिये विधायक बिश्नोई ने”अगर ऐ नाखुदा तूफान से लडऩे का दम-खम है, इधर कश्ती न ले आना यहाँ पानी बहुत कम है”से शुरुआत की ।विधायक बिश्नोई ने कहा कि जिस धरती से मैं आता हूं और उस धरती से कल्लाजी आते हैं वहां घी तो मिल जाता है लेकिन वहां पानी देखने को नहीं मिलता। पुरखो ने पानी को सहजने की बहुत बड़ी परंपरा विकसित की थी उसे समय के साथ-साथ भूलते गए । पानी की बूंद-बूंद के लिए हमारा क्षेत्र तरस रहा है । पानी बहुत गहरा है फ्लोराइड युक्त बहुत भारी पानी है जिसको जानवर भी नहीं पी सकते ।विधायक विश्नोई ने कहा कि विधायक बनने के बाद जब भी सदन में मौका मिला अलग-अलग माध्यम से नोखा के लिए नहरी पानी परियोजना स्वीकृति हेतु पुरजोर मांग रखी ।
भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2019 को जल जीवन मिशन के तहत 2024 तक घर घर नल से जल पहुंचाने की घोषणा की ।
20 फरवरी 2020 को राजस्थान विधानसभा में इस सरकार का दूसरा बजट पेश हुआ और 23 फरवरी को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और जलदाय मंत्री डॉक्टर बी डी कल्ला आप मुकाम पधारे लाखों लोगों के सामने नोखा में नहरी पानी की पुरजोर मांग रखी और 4 दिन बाद मुख्यमंत्री ने बजट रिप्लाई में हमारी मांग को ध्यान में रखते हुए नोखा को नहरी पानी की डीपीआर बनाने की घोषणा की ।विधायक बिश्नोई ने कहा 362 दिन बाद 24 फरवरी को इस सरकार के तीसरे बजट 2021-22 में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नोखा को नहरी पेयजल परियोजना हेतु 750 करोड रुपए देने की घोषणा की जिसमे केंद्र व राज्य सरकार की बराबर हिस्सेदारी रहेगी । इस हेतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ,मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ,केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, जलदाय मंत्री बी डी कल्ला काआभार जताया ।
विधायक बिश्नोई ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का भी आभार जताया क्योंकि इन्होंने 2008 में नोखा के हिस्से का पानी देशनोक लाकर रिजर्व कर दिया था ।
विधायक बिश्नोई ने डॉक्टर बी डी कल्ला से आग्रह करते हुए कहा कि जल है तो कल है आप इसी वित्त वर्ष में नोखा नहरी पेयजल परियोजना की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति, तकनीकी स्वीकृति और टेंडर प्रक्रिया पूरी करवाकर काम शुरू करवाने का काम करें ।

विधायक बिश्नोई ने नोखा में जलदाय विभाग के कर्मचारियों की स्थिति बताते हुए कहा कि कनिष्ठ सहायक अभियंताओ के 12 में से 8 पद रिक्त है, मंत्रालय कर्मचारियों के 37 में से 20 पद रिक्त है, तकनीकी कर्मचारियों में 37 में से 20 पद रिक्त है । गर्मी का मौसम आ रहा है कर्मचारियों की जल्द नियुक्ति की जाए ।
गांव में मोटर और सबमर्सिबल पंप खराब होने पर उन्हें बदलने में कई कई दिनों का समय लगा दिया जाता है । आपसे आग्रह है आप विभाग को निर्देशित करें कि तुरंत खराब मोटर व सबमर्सिबल पंप को बदला जाए ।
गांव में पंप ऑपरेटर ठेके पर कार्य कर रहे हैं स्थानीय निवासियों को पता ही नहीं होता कि कौन पम्प ऑपरेटर है इसलिए ठेकेदार को उनका भुगतान करें तब गांव के मुखिया सरपंच से वेरिफिकेशन भी करवाया जाए ।विधायक बिश्नोई ने कहा कि कनिष्ठ सहायक अभियंता जसरासर कार्यालय द्वारा सबमर्सिबल पंपसेट बदलने हेतु 50 लाख की स्कीम चीफ कार्यालय भेजी हुई है उसे तुरंत स्वीकृत करवाया जाए ताकि गर्मी के समय में तुरंत खराब हुए सबमर्सिबल पंप सेट ठीक करवाये जा सके या नया लगाया जा सके ।
विधायक बिश्नोई ने कहा की हमारे जिले में जनता जल योजना तो नहीं है लेकिन उसी तर्ज पर कार्य कर रहे अल्प वेतनभोगी जो ₹500 में कार्य करते थे उन्हें वर्षों से वेतन नहीं मिला और ऐसे तीन दर्जन से अधिक लोगो को न्यूनतम मजदूरी से वेतनमान देने का माननीय उच्च न्यायालय ने आदेश कर रखे है । उनकी फाइल भी तैयार है उन्हें तुरंत भुगतान करवाने के निर्देश प्रदान करें ।
नोखा विधानसभा क्षेत्र में नकारा हुवे ट्यूबवेलो के स्थान पर ट्यूबवेल तथा विभिन्न गांवो में जनता की मांग अनुसार 50 से अधिक नये ट्यूबवेलों के निर्माण हेतु स्कीम बनाकर तुरन्त स्वीकृत की जाए ।