>



बीकानेर। शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर कांग्रेसी पार्षदों ने सुबह नगर निगम में हंगामा शुरु कर दिया। जानकारी के अनुसार पिछले काफी दिनों से शहर की सफाई व्यवस्था पुरी तरह चौपट हो चुकी है। जबकि निगम महापौर लगातार इस पर कार्य करने के बाद भी स्थिति नहीं सुधरी रही है। इसे आहत होकर आज सुबह कांग्रेस के पार्षदों ने निगम आयुक्त का कमरा बंद कर धरने पर बैठे कर नारेबाजी करने लगे है। कांग्रेस पार्षदों का रवैया भांप कर आयुक्त ने उन्हे नगर निगम सभागार में वार्ता के लिये बुला लिया। बंद सभागार में हुई वार्ता में कांग्रेसी पार्षदों ने शहर में बिगड़ी सफाई व्यवस्था के लिये नगर निगम प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाये कि पर्याप्त तादाद में संसाधन और सफाई कर्मचारी होने के बावजूद शहर गंदगी की मार झेलने के लिये मजबूर है। नगर निगम अधिकारियों ने सफाई कर्मियों की ड्यूटिया मनमर्जी से लगा रखी है,जमादार और सफाई निरीक्षक किसी की सुनवाई नहीं करते। ऐसे हालातों में आमजन कचरे, गंदगी व नाले-सीवर जाम से परेशान है। शहर ओडीएफ घोषित होने के बाद भी लोग खुले में शौच जाने को मजबूर हैं। घेराव करने वालों में कांग्रेस पार्षद मनोज जनागल, ताहिर हसन, मनोज बिश्नोई, मनोज नायक, अकबर खादी, शहजाद भुट्टा, अब्दुल वाहिद, फिरोज अब्बासी, रफीक, सत्तार, परमानन्द गहलोत, शिव शंकर बिस्सा, सुशील सुथार, सुरेन्द्र सिंह, कुसुम भाटी, सुनील गेदर, राजकुमार मौजूद थे।