>



खुलासा न्यूज़, जयपुर। राजस्थान विधानसभामें बुधवार को प्रश्नकाल के दौरान लगातार दूसरे दिन भारी हंगामा हुआ। कोटा में नवजात शिशुओं की मौत मामले पर लगाए एक सवाल पर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा के जवाब से नाखुश भाजपा विधायकों ने वैल में आकर जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस विधायकों ने उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ के उस बयान की खबर के प्रिंटेड पर्चे सदन में लहराए, जिसमें उन्होंने चिकित्सा मंत्री रहने के दौरान कोटा के अस्पताल के हालात पर कहा था कि वे खुद यहां के हालात देखकर शर्मिंदा हैं। नीमकाथाना से कांग्रेस विधायक पर्चा लेकर वैल क्रॉस कर विपक्षी सदस्यों तक पहुंच गए। विधायक वासुदेव देवनानी ने उस पर्चे को फाड़ा और अशोक लाहोटी ने उसे सत्ता पक्ष की तरफ फैंक दिया। इस दौरान कांग्रेस विधायक के वैल क्रॉस कर विपक्ष तक पहुंच जाने और विपक्षी सदस्यों के पर्चा फाड़कर सत्ता पक्ष की तरफ फैंकने पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने सामने वाली पार्टी के संबंधित सदस्यों को पाबंद करने और प्रताडि़त करने की मांग रख दी। इस पर अध्यक्ष सी.पी.जोशी ने कहा वे किसी को प्रताडित नहीं कर रहे, वे तो खुद इस कुर्सी पर बैठकर खुद को प्रताडि़त महसूस कर रहे हैं। अध्यक्ष ने दी यह भी नसीहत जोशी ने कहा कि सदस्य बैठे-बैठे बोलें, यहां पर कागज लाएं यह परंपरा ठीक नहीं है। इस पर विपक्ष ने मेजें थपथपाई। अध्यक्ष ने कहा कि वैल में आकर कागज बताना ठीक नहीं। वाद—विवाद और चर्चा यह संसदीय ताकत है।