>



बीकानेर । अखिल भारतीय सफाई श्रमिक कांग्रेस ने केन्द्र सरकार द्वारा देश के सभी जिला अस्पतालों को निजी हाथों में सौंपने की तैयारी को दुर्भाग्यपूर्ण मानते हुए इसकी भत्र्सना की है। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष वाल्मीकि मुकेश राजस्थानी ने केन्द्र की मोदी सरकार के नीति आयोग के पीपीपी मॉडल के तहत देश के सभी जिला अस्पतालों को निजी हाथों में सौंपने की कार्यवाही का केन्द्र सरकार की संभावित कार्यवाही का कड़ा विरोध किया है। राजस्थानी ने कहा कि केन्द्र सरकार की इस कार्यवाही से सरकारी चिकित्सा सेवाऐं प्रभावित तो होगी ही साथ ही निजीकरण के ठेका प्रथा द्वारा संचालित अस्पताल इतने महंगे हो जायेंगे कि देश के जिला अस्पतालों में आमजन अपना इलाज भी नहीं करा पायेंगे। अखिल भारतीय सफाई श्रमिक कांग्रेस के अध्यक्ष मुकेश राजस्थानी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्र सरकार क स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर ज्ञापन भेजा है कि देश के सभी जिला अस्पतालों को निजी हाथों में सौंपा गया तो इसका कड़ा विरोध किया जायेगा। राजस्थानी ने कहा कि इससे चिकित्सा व स्वास्थ्य सुविधाऐं आमजन अजा, जजा व गरीब, मजदूर ,किसान वर्ग प्रभावित होंगे।