>


श्रीगंगानगर। केन्द्रीय कारागृह में हाजरी के दौरान एक बंदी ने कारापाल पर हमला कर दिया और मारपीट कर दी। यह देखकर वहां आए प्रहरियों ने उसको दबोच लिया। मारपीट करने वाले बंदी के दोस्त बंदी ने उसे छुड़ाने का प्रयास किया लेकिन जब नहीं छूटा तो उसने दीवार पर सिर टकराकर आत्महत्या का प्रयास किया।
इस घटना को लेकर जेल में काफी हंगामा हो गया। जेलकर्मियों ने घायल बंदी को राजकीय चिकित्सालय पहुंचाया, जहां उसे कैदी वार्ड में भर्ती कराया गया है। इस संबंध में जेल अधीक्षक व कारापाल की ओर से कोतवाली में दो मामले दर्ज कराए गए हैं। यह घटना गुरुवार शाम को बंदियों को बैरक में भेजने के दौरान हुई। सीओ सिटी इस्माइल खान ने बताया कि जेल में गुरुवार शाम को हाजरी हो रही थी। जहां कारापाल रवि कुमार व अन्य प्रहरी हाजरी कर रहे थे। इसी दौरान हत्या के मामले में सजा याफ्ता बंदी अशोक नगर एसएसबी रोड निवासी अशोक कुमार उर्फ अशोरी मेघवाल ने कारापाल रवि कुमार पर हमला कर दिया और मारपीट कर दी। इसको लेकर वहां हंगामा हो गया और अन्य प्रहरी पहुंच गए। प्रहरियों ने अशोक कुमार को दबोच लिया तथा दूसरी तरफ ले जाने लगे।
<श्च>इसी दौरान बंदी अशोक के मित्र समेजा निवासी रामकुमार बावरी जो पोक्सो एक्ट के मामले में सजा काट रहा है। उसने अशोक कुमार को छुड़ाने का प्रयास किया। प्रहरियों ने दूर हटा दिया। तभी उसने अपना सिर दीवार से टकराकर आत्महत्या का प्रयास किया। एक साथ हुई दो घटनाओं से जेल में अफरातफरी का माहौल हो गया। जेल प्रहरियों ने तत्काल घायल बंदी को राजकीय चिकित्सालय पहुंचाया और वहां उसको कैदी वार्ड में भर्ती कराया गया है। एक मामले में कारापाल रवि कुमार ने बंदी अशोक कुमार उर्फ अशोकी मेघवाल के खिलाफ मारपीट करने का मामला दर्ज कराया है। वहीं दूसरी तरफ जेल अधीक्षक अशोक वर्मा ने बंदी रामकुमार बावरी के खिलाफ दीवार में सिर टकराकर आत्महत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने दोनों मामले दर्ज कर जांच शुरू कर दी है