>


खुलासा ने इंवेस्टमेंट्स गुरू पीयूष शंगारी से बातचीत की। पीएस इंवेस्टमेंट्स के संचालक पीयूष बताते है कि हमारी ऐप के रूप में,लोगों के पास एक सहज,सुगम पोर्टल है,जहां वे बिना किसी परेशानी के इक्विटी बाजारों में निवेश कर सकते हैं।  ऐसे में निश्चित तौर पर आपके मन में कई तरह के सवाल आ रहे होंगे मसलन कैसे इसमें निवेश किया जा सकता है। तो आइए वेस्टमेंट्स गुरू पीयूष शंगारी से जानते हैं कि क्या होता है आईपीओ और कैसे इसमें निवेश किया जाता है। 

आप जानते हैं कि सरकार ने हाल ही में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) की IPO प्रक्रिया में मदद करने के लिए सलाहकारों की मांग की है जो केंद्रीय बजट 2020 में की गई सबसे बड़ी घोषणाओं में से एक थी। वित्त मंत्री ने संसद में कहा था कि खुदरा निवेशकों को भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक और भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के दुर्लभ रत्नों में से एक कम्पनी के साथ सफलता हासिल करने का मौका मिलना चाहिए।

संक्षिप्त इतिहास

एलआईसी की स्थापना सरकार ने 1951 में 5 करोड़ रुपये की चुकता पूंजीगत राशि के साथ की थी। कंपनी चलाने के लिए इसके निदेशक मंडल में 16 से अधिक निदेशकों को शामिल करना अनिवार्य था। अपने अधिकांश जीवनकाल के लिए यह LIC का स्वर्णिम काल रहा क्योंकि किसी भी निजी कम्पनी को बाजार में भाग लेने की अनुमति नहीं थी।

इस सदी के शुरुआत में बीमा व्यापार को निजी भागीदारी के लिए मुक्त कर दिए जाने के बाद भी LIC का एकाधिकार कम नहीं हुआ क्योंकि पहले 44 वर्षों में ही इसने 20 लाख पॉलिसीधारकों के साथ बाजार का एक बड़ा हिस्सा ले लिया था जिसकी कुल राशि रु 1.2 लाख करोड़ थी। इसके अलावा, इसके पास लगभग 7 लाख एजेंटों की एक प्रभावशाली सेना थी जो सालाना औसतन 13 लाख रुपये का कारोबार करते थे।

एक के बाद एक मील के पत्थर को छूते हुए, कंपनी भारतीयों के मानस में इतनी बसी हुई है कि माता-पिता अक्सर अपने बच्चों को एलआईसी पॉलिसी खरीदने के लिए कहते हैं ताकि वे अपना भविष्य सुरक्षित कर सकें। इसकी टैगलाइन ‘Zindagi ke saath bhi, zindagi ke baad bhi’ देश की सबसे परिचित ब्रांड संपत्तियों में से एक है।

LIC IPO में आवेदन कैसे करें

आईपीओ के लिए आवेदन करना हाल के दिनों में बहुत सरल हो गया है। यद्यपि आप अभी भी अपने ब्रोकर के माध्यम से ऑफ़लाइन आवेदन प्रक्रिया के लिए जा सकते हैं, जबकि आज के समय में सबसे आसान विकल्प ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया है। जहां आपको बस अपने डीमैट खाते का उपयोग करने की आवश्यकता है। यदि आपके पास पहले से डीमेट खाता है तो ठीक वरना आजकल मात्र 15 मिनट में आप ऑनलाइन नया डीमेट खाता खोलकर IPO में आवेदन कर सकते हैं।

यदि आप भारत की सबसे मूल्यवान और पोषित कंपनियों में से एक के आईपीओ में निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो आप यह सुनिश्चित करने के लिए पीएस इन्वेस्टमेंट्स के साथ एक डीमैट खाता खोलने पर विचार कर सकते हैं क्योंकि यह एक परेशानी-मुक्त प्रक्रिया है। इसके अलावा, आपको पीएस इन्वेस्टमेंट्स के डीमैट खाते के लिए कोई वार्षिक प्रबंधन शुल्क नहीं देना होगा।