>


बीकानेर। वैसे तो इंवेस्टमेंट्स करने के लिये आपके पास अनेक ऑफर्स है। अलग अलग निवेशों के जरिये इंवेस्टमेंट्स किया भी जा सकता है। लेकिन कुछ अनभिज्ञता के कारण निवेशक को इंवेस्टमेंट्स किये अपने धन का ज्यादा फायदा नहीं मिलता है। आपकी ओर से की गये इंवेस्टमेंट्स का ज्यादा फायदा हो इसके लिये खुलासा ने इंवेस्टमेंट्स गुरू पीयूष शंगारी से बातचीत की। पीएस इंवेस्टमेंट्स के संचालक पीयूष बताते है कि हमारी ऐप के रूप में,लोगों के पास एक सहज,सुगम पोर्टल है,जहां वे बिना किसी परेशानी के इक्विटी बाजारों में निवेश कर सकते हैं। पर कौनसे शेयर में इन्वेस्ट करें ये हर निवेशक के सामने एक बड़ा सवाल होता है।

शंगारी कहते है कि ये शेयर हमारे विश्लेषण के अनुसार बेहतर प्रदर्शन करे रहे हैं। परन्तु एक निवेशक के तौर पर आपको स्वयं विश्लेषण करना नहीं भूलना चाहिए। स्टॉक मार्केट निवेशक होने का पहला फायदा यह है कि आप अपने खुद के मालिक हैं, तो निवेश करते समय आप हमेशा एक बॉस की तरह निर्णय लीजिए हर दिशा से जानकारी बटोरिए, कोई भी विकल्प चुनते समय विजऩ को दीर्घकालिक रखते हुए सही चुनाव करें।
खुलासा:धन को बढऩे का सर्वोत्तम तरीका कौनसा है
जबाब:पहला स्टॉक जिसका हम उल्लेख करना चाहते हैं, वह है रिलायंस इंडस्ट्रीज। रिलायंस इंडस्ट्रीज भारत के सर्वश्रेष्ठ व्यावसायिक समूह में से एक है – और इसका नेतृत्व दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक मुकेश अंबानी कर रहे हैं। रिलायंस इन्डस्ट्रीज ने ऐतिहासिक रूप से निवेशकों को ठोस लाभ दिया है। अतीत में,रिलायंस इन्डस्ट्रीज के शेयर की क ीमतें 31 प्रतिशत से अधिक बढ़ी थीं। यही कारण है कि शेयर बाजार आपके धन को बढऩे के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है।
खुलासा:भविष्य के रिटर्न की क्या गारंटी है-
जबाब:यद्यपि अतीत के रिटर्न आपको भविष्य के रिटर्न की गारंटी नहीं देते हैं। इसलिए भविष्य के रिटर्न के लिए विकास के कारकों पर ध्यान देना चाहिए। रिलायंस भविष्य के लिए बड़ी महत्वाकांक्षाओं के साथ एक बहुत गतिशील समूह है। संभावना है कि यह अपनी मौजूदा गति से बढ़ता रहेगा। इसलिए यदि आप निवेश करने के लिए एक स्थिर और लार्ज-कैप स्टॉक की तलाश में हैं, तो आपके लिए रिलायंस एक अच्छा विकल्प हो सकता है।
खुलासा:किसी कंपनी की सफलता के पीछे क्या सोच होती है-
जबाब:आप अगली बार जब डोमिनोज पिज्जा या डंकिन डोनट्स से फास्ट फूड ऑर्डर करें,तो इनके बिल फैंकने से पहले एक बार अच्छे तरीके से पढऩा। आपको इन दोनों बड़ी फास्टफूड कम्पनियों में एक ही समानता मिलेगी की ये दोनों एक ही कंपनी की फ्रैंचाइजी हैं और वह कम्पनी है: जुबिलेंट फूडवर्क्स।
जुबिलेंट फूडवर्क एक भारतीय कंपनी है जो इन बड़े पैमाने पर अंतर्राष्ट्रीय खाद्य श्रृंखलाओं की फ्रेंचाइजी का मालिक है। इस कम्पनी की भारत में टियर 2 और टियर 3 शहरों के साथ-साथ टियर 1 शहरों तक पकड़ मजबूत होने वाली है। जिससे इनकी फास्ट फूड आउटलेट की संख्या दोगुनी और तिगुनी हो जाएगी। इसलिए जुबिलेंट फ़ूडवर्क की भविष्य में विकास की संभावनाएं बहुत अधिक हैं। आप जब भी कोई सफल कंपनी देखते हैं, तो आपके दिमाग में सबसे पहले यही सवाल आना चाहिए कि इस सफल कंपनी के पीछे और कितनी सफल कंपनियां हैं? उदाहरण के लिए,अमेजन आपके ऑर्डर देने के लिए अपने लॉजिस्टिक्स पार्टनर्स पर निर्भर करता है।
खुलासा:अपने निवेश को हम किस तरीके से बढ़ा सकते है-
जबाब:डोमिनोज पिज्जा जैसी कंपनियां भारत में विस्तार के लिए जुबिलेंट फूडवर्क नामक घरेलू कम्पनी पर निर्भर है। ऐसे में आप पाएंगे कि,आप अपेक्षाकृत कम आंके गए रत्नों की खोज कर सकते हैं। जैसे-जैसे औसत भारतीय की आय में वृद्धि होती है, उनके अवकाश और मनोरंजन का खर्च बढ़ता जाता है। नवीनतम बॉलीवुड और हॉलीवुड फिल्मों को देखने के लिए बाहर जाना आज हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण तरीका है। जिसमें भारतीय सप्ताहांत पर अपने दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताना पसंद करते हैं। पीवीआर सिनेमा एक ऐसी कंपनी है जिसने इस ट्रेंड को ठीक से कैपिटलाइज़्ड किया है। अगर आप 2010 में पीवीआर सिनेमा का स्टॉक खरीद लेते तो 2020 तक आते-आते आपको अपने निवेश पर 10 गुना के आसपास रिटर्न मिल जाता। इसका मतलब यह है कि अगर आपने 2010 में इस स्टॉक में एक लाख का निवेश किया होता तो आज आपके निवेश की कीमत दस लाख के करीब होती।
खुलासा:स्टॉक में निवेश करते समय कितने आंकड़ों पर विचार करें-
जबाब: टारगेट प्राइस और स्टॉप लॉस। शेयर बाजार के विश्लेषक एक कंपनी के व्यापार मूल सिद्धांतों, उसके प्रतिस्पर्धी परिदृश्य और भविष्य के विकास के अनुमानों को देखकर कंपनी का टारगेट प्राइस तय करते हैं। विश्लेषकों के अनुसार यह स्टॉक के लिए सही मूल्यांकन है। इसलिए अगर मौजूदा बाजार मूल्य टारगेट प्राइस से कम है, तो इसका मतलब है कि स्टॉक “डिस्काउंट” पर कारोबार कर रहा है। जब स्टॉक अपने मौजूदा बाजार मूल्य से डिस्काउंट पर व्यापार कर रहे हों, तो शेयर खरीदना बुद्धिमानी है। हालांकि यह बात ध्यान में रखने योग्य है कि हर विशेषज्ञ का टारगेट प्राइस अलग होता है।यह इस बात पर निर्भर करता है कि किसी शेयर के मौजूदा मूल्यांकन के लिए आप किन कारकों को महत्वपूर्ण मानते हैं। इसलिए एक निवेशक को अपने विश्लेषण के माध्यम से किसी कंपनी के टारगेट प्राइस पर पहुंचने का प्रयास करना चाहिए और तब स्टॉक खरीदने पर विचार करना चाहिए जब इसका बाजार मूल्य टारगेट मूल्य से कम हो।
खुलासा:इन्वेस्टर के लिए क्या एक्जिट स्ट्रैटेजी होनी चाहिए-
जबाब:ध्यान में रखने योग्य के दूसरी महत्वपूर्ण अवधारणा है स्टॉप लॉस। स्टॉप लॉस महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके लाभ को सुरक्षित करने और किसी भी अनावश्यक नुकसान से बचने के लिए सही समय पर आपकी स्थिति को कैश कर देगा। हर इन्वेस्टर के लिए एक एक्जिट स्ट्रैटेजी होना बहुत महत्वपूर्ण है। पीएस इंवेस्टमेंट्स का सुगम मोबाइल ऐप आपको स्टॉप लॉस सेट करने की भी सुविधा देता है, जो यह सुनिश्चित करता है कि जब कभी भी आपके लिए लाभदायक हैं तो आप किसी ट्रेड से बाहर निकल जाएं।चलिए, पीएस इंवेस्टमेंट्स की तरफ से आज के लिए अलविदा। ये पोस्ट शेयर करना ना भूलियेगा – याद रखिए की ज्ञान बांटने से बढ़ता है। अंत में यही कहेंगे कि वित्तीय बाजार एक ऐसा विश्वविद्यालय है जिसमें कोई प्रोफेसर नहीं है, सभी छात्र ही हैं।