नई दिल्ली. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने जोधपुर में कोरोना वायरस ) के बढ़ते मामलों को देखते हुए 21 मार्च तक धारा 144 लगा दी है. शादियों और सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए 100 लोगों की संख्या तय कर दी गई है. केवल आवश्यक जरूरत के सामान की दुकानें, स्कूल और कॉलेज खुले रहेंगे. जोधपुर पुलिस की ओर से जारी बयान में ये जानकारी दी गई है. उधर, मध्य प्रदेश ने पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पड़ोस के जिलों से आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग करने का फैसला लिया है. इसके साथ ही मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बेतुल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बरवानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, अलीराजपुर और महाराष्ट्र से सटे जिलों के कलेक्टरों से आपदा प्रबंधन कमिटी की मीटिंग बुलाकर कोरोना वायरस संक्रमण के बारे में तैयारी करने और सतर्कता बरतने को कहा है.
महाराष्ट्र के बुलढाणा में होम आइसोलेशन नहीं
महाराष्ट्र की बात करें तो बुलढाणा के एडीएम दिनेश गीते के मुताबिक बुलढाणा शहर, चिखाली, खमगांव, देउलगांव राजा और मलकापुर क्षेत्र में प्रतिबंध लगाए गए हैं. पिछले कुछ दिनों से इन इलाकों में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. दिनेश गीते ने कहा कि सुबह 8 बजे से शाम के 3 बजे तक केवल आवश्यक जरूरत के सामानों की दुकानें ही खुलेंगी और गाइडलाइंस का पालन ना करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. लोगों को घर में आइसोलेशन की अनुमति भी नहीं रहेगी. महाराष्ट्र में बढ़ते मामलों को देखते हुए गुजरात सरकार ने महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से सटे जिलों से आने वाले लोगों की कोरोना वायरस के मामलों की पड़ताल के लिए स्क्रीनिंग करने का फैसला लिया है. इसके लिए राज्य की सीमाओं पर चेक पोस्ट बनाए जाएंगे