>



जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के दिशा निर्देशों के बाद राज्य के तीस आईएएस अधिकारियों की तबादला सूची जारी की गई है। इस सूची में पब्लिक सर्विसेज के निदेशक आशीष गुप्ता की नियुक्ति अजमेर स्थित राजस्थान लोक सेवा आयोग के सचिव के पद पर की गई। लेकिन आयोग के सचिव के पद पर कार्यरत सुश्री रेणु जयपाल की नियुक्ति किस स्थान पर की गई है, इसका उल्लेख सूची में नहीं है। सुश्री जयपाल का नाम प्रतिक्षारत अधिकारियों की सूची में भी नहीं है। जाहिर है कि तीस आईएएस की तबादला सूची में से रेणु जयपाल का नाम गायब हो गया है। सुश्री जयपाल इन दिनों दिल्ली चुनाव में पर्यवेक्षक की भूमिका निभा रही है। 9 फरवरी को भी सुश्री जयपाल दिल्ली में ही मौजूद थी। 11 फरवरी को परिणाम आने के बाद ही सुश्री जयपाल राजस्थान लौटेंगी। सुश्री जयपाल का नाम किधर चले गया इसको लेकर वे स्वयं भी जांच पड़ताल करवा रही है। आईएएस की तबादला सूची को देखने से प्रतीत होता है जिन आईएएस का तालमेल अपने विभाग के मंत्रियों से नहीं रहा उन्हें कबाड़ में डाल दिया गया है। अजमेर नगर निगम की आयुक्त सुश्री चिन्मयी गोपाल के तबादले को लेकर अटकलें लगाई जा रही थी, लेकिन 9 फरवरी को जारी सूची में सुश्री चिन्मयी का नाम नहीं है, इससे जाहिर है कि फिलहाल सुश्री चिन्मयी नगर निगम की आयुक्त बनी रहेंगी। इससे उन लोगों के अरमानों पर पानी फिर गया है जो सुश्री चिन्मयी का तबादला चाहते थे। उल्लेखनीय है कि सुश्री चिन्मयी ने अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की है। कई कॉम्प्लेक्स सीज भी करवाए हैं, इससे कांग्रेस और भाजपा दोनों के ही नेता लगातार नाराजगी जताते रहे। अजमेर के कलेक्टर रहे गौरव गोयल का रुतबा और बढ़ाया गया है। खान निदेशक के साथ साथ गोयल को अब पेट्रोलियम का निदेशक भी बना दिया गया है। अजमेर नगर निगम के आयुक्त रहे हिमांशु गुप्ता को एक बार फिर कलेक्टर की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पूर्व में गुप्ता को बाड़मेर के कलेक्टर से हटा कर माध्यमिक शिक्षा विभाग का निदेशक नियुक्त किया गया था, लेकिन 9 फरवरी की सूची में गुप्ता को जालौर का कलेक्टर बनाया गया है। गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति और सरकार के बीच मध्यस्थता की भूमिका निभाने वाले डॉ. नीरज के पवन को अब चिकित्सा एवं स्वास्थ सेवाओं में शासन सचिव के पद पर नियुक्ति दी गई है। पवन को श्रम रोजगार, कौशल एवं उद्यमिता का प्रभार भी दिया गया है। इससे पहले पवन सहकारिता विभाग के रजिस्ट्रार और जनसम्पर्क विभाग के आयुक्त का काम देख रहे थे। माना जा रहा कि पवन की नई नियुक्ति में चिकित्सा एवं स्वास्थ मंत्री रघु शर्मा की सिफारिश काम में आए है। सीएमओ ने पवन की नियुक्ति के साथ एक और मंत्री अशोक चांदना को भी खुश किया है। वहीं अब तक श्रम रोजगार के शासन सचिव रहे समित शर्मा को जयपुर मेट्रो रेल कॉपोरेशन का अध्यक्ष एवं प्रबंधक निदेशक बनाया गया है। उम्मीद जताई जा रही थी कि चूरू कलेक्टर संदेश नायक का भी तबादला किया जाएगा, लेकिन 9 फरवरी की सूची में नायक का नाम भी नहीं है। अलबत्ता रवि जैन को झुंझुनूं के कलेक्टर के पद से हटा कर परिवहन विभाग का आयुक्त बनाया गया है। अब तक इस पद पर काम कर रहे राजेश यादव को जनस्वास्थ एवं अभियांत्रिकी विभाग का शासन सचिव नियुक्त किया गया है। अजमेर में राजस्व मंडल के सदस्य प्रवीण गुप्ता को अब विभागीय जांच का आयुक्त बनाया गया है। ऊर्जा विभाग एवं जयपुर डिस्कॉम के अध्यक्ष कुंजीलाल मीणा की नियुक्ति खान एवं पेट्रोलियम विभाग के प्रमुख शासन सचिव के पद पर की गई है। इसी प्रकार आदेश की प्रतीक्षा में रहे आईएएस सुधांशु पंत को वन एवं पर्यावरण विभाग का प्रमुख शासन सचिव बनाया गया है। संदीप वर्मा को राजस्व उपनिवेश, श्रीमती श्रेय गुहा को कला एवं संस्कृति विभाग, अजीताभ शर्मा को ऊर्जा विभाग का प्रमुख शासन सचिव नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार दिनेश कुमार को जयपुर डिस्कॉम का अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, नवीन जैन को रोजडवेज का प्रबंध निदेशक, नारायण लाल मीणा को बीकानेर का संभागीय आयुक्त, सुरेश चंद गुप्ता को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग का अतिरिक्त आयुक्त, वीरेन्द्र सिंह बाकावत को माध्यमिक शिक्षा का आयुक्त, कुंजी बिहारी पांडया को चिकित्सा विभाग का आयुक्त, महेन्द्र सोनी को जनसम्पर्क विभाग का आयुक्त, अमरदीन खान को झुंझुनूं का कलेक्टर, श्रीमती रश्मिा गुप्ता को सहकारिता विभाग का अति. पंजीयक, श्रीमती चित्रा गुप्ता को पब्लिक सर्विसेज का निदेशक, अंतर सिंह नेहरा को बूंदी का कलेक्टर, भगवती प्रसाद कलाल को खान विभाग का सचिव, श्रीमती रुकमणि रियार को स्टेट हेल्थ इंश्योरेंस का संयुक्त सीईओ, श्रीमती नम्रता को डूंगरपुर का कलेक्टर, गेवांडे प्रदीप को चिकित्सा सेवाएं निगम लिमिटेड का एमडी, खुशाल यादव को बीकानेर नगर निगम का आयुक्त तथा सौरभ स्वामी को माध्यमिक शिक्षा का निदेशक नियुक्त किया गया है।