>


बीकानेर। बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट द्वारा एवं टेक्यूप प्रायोजित रिसेंट एडवांसेज इन सिविल इंजीनियरिंग विषय पर एक दिवसीय नेशनल वेबीनार आयोजित हुआ। वेबिनार को अभिनश महंता रिसोर्स पर्सन इंजीनियरिंग कॉलेज गुवाहाटी ने संबोधित किया। अध्यक्षता चीफ पैटर्न एवं तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति एच डी चारण एवं विशेष अतिथि एवं पैटर्न निदेशक अकादमिक डॉ यदुनाथ सिंह ने की। वही दूसरी और कॉलेज यूनिवर्सिटी कॉलेज ओफ़ एंजिनीरिंग एंड टेक्नॉलजी के कम्प्यूटर साइन्स एंड एंजिनीरिंग डिपार्ट्मेंट ने अपने एवं अन्य महाविद्यालयों के इस विभाग से जुड़े छात्र-छात्राओं के लिए एक दिवसीय नेशनल वेबिनार का सोमवार को आयोजन किया। इस वेबिनार का शीर्षक ओपर्टूनिटीज़ फ़ोर सी एस ई स्टूडेंट्स अमिड कोविड-19 रखा गया। मुख्य वक्ता आईटीआई रूडकी के एसोसिएट प्रो डॉ. रजत अग्रवाल रहे। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. यदूनाथ सिंह एवं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एच डी चारण ने भी अपनी व्यस्त दिनचर्या से समय निकाल कर सभी के समक्ष अपने विचार साझा किए एवं बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय का पूर्ण सहयोग छात्रों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए है। वही डिपार्टमेंट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज द्वारा प्रबंधोत्सव का आगाज किया गया। जिसके मुख्य अतिथि स्वामी केशवानंद विश्वविद्यालय कुलपति प्रोफेसर आर पी सिंह एवं विशेष अतिथि एन के जैन अध्यक्ष एंप्लॉयरस एसोशिएशन ऑफ राजस्थान थे। मुख्य अतिथि सिंह ने एग्री बिजनेस और प्रबंधन कार्यक्रम के दायरे के बारे में चर्चा की व अपने विचार रखे। डीन डॉ एस के बंसल ने धन्यवाद ज्ञापित किया। बीकानेर नोडल केंद्र में मानव मूल्य सेल द्वारा आनंदम की सात दिवसीय कार्यशाला का भी समापन संपन्न हुआ। इस कार्यशाला के मुख्य अतिथि देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति डॉ चिन्मय पंड्या थे।उन्होंने मानव जीवन की मूल्य को समझाते हुए कहा कि मानव जीवन अमूल्य है इसका सदैव सदुपयोग करना चाहिए।बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित इस नेशनल वेबिनार प्रबंधोत्सव और मानवीय मूल्यों की समापन कार्यशाला पर असंख्य विद्यार्थियों ने भाग लिया और अपनी जिज्ञासा का समाधान किया साथ ही इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ताओं ने भी अपने अनुभव विद्यार्थियों के साथ साझा किए।