>


बीकानेर। शिक्षा विभाग ने नव नियुक्त कनिष्ठ सहायकों के पदस्थापन में आ रही अड़चनों को दूर कर दिया है। माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने सभी जिलों के शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी कर कनिष्ठ सहायकों को जिला आवंटन करने के बाद बनवाए गए स्वास्थ्य प्रमाण पत्र और चरित्र प्रमाण पत्रों को मान्य माना जाए। माध्यमिक शिक्षा निदेशक के आदेश के बाद नव नियुक्त कनिष्ठ सहायकों को ज्वाइनिंग करने में जिलों में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। शिक्षा निदेशक के इस आदेश का कर्मचारी संघ राजस्थान बीकानेर के जिला अध्यक्ष अवि कांत पुरोहित एवं संभाग के अध्यक्ष कमल नारायण आचार्य निदेशक माध्यमिक शिक्षा का बहुत-बहुत आभार व्यक्त किया। दरअसल, शिक्षा विभाग ने एक जून को एक आदेश जारी करके 6 हजार से ज्यादा कनिष्ठ सहायकों को पहली पोस्टिंग देने के लिए जिलों को आवंटित कर दिया था। इसके जिलों में चयनित कनिष्ठ सहायकों को काउंसलिंग के जरिए पोस्टिंग देने की कवायद शुरू हुई। लेकिन कई जिलों में कनिष्ठ सहायकों को पुलिस से सत्यापित चरित्र प्रमाण पत्र और स्वास्थ्य प्रमाण पत्र को लेकर परेशानियों का सामना करना पड़ा।कई जिलों में कनिष्ठ सहायकों को नियुक्ति आदेश जारी होने की तिथि के बाद के ही चरित्र प्रमाण पत्र और स्वास्थ्य परीक्षण प्रमाण पत्र लाने पर ही कार्यग्रहण करवाने के निर्देश दिए गए जबकि बड़ी संख्या में कनिष्ठ सहायकों ने माध्यमिक शिक्षा निदेशालय की ओर से जिला आवंटन के आदेश जारी होने के बाद से ही इन प्रमाण पत्रों को संबंधित जिलों के स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग के कार्यालयों से बनवाना शुरू कर दिया था, लेकिन कई जिलों में इन्हें माना नहीं गया।