>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। विधानसभा में लूणकरणसर विधायक सुमित गोदारा ने शुद्ध जलापूर्ति का मुद्दा उठाते हुए गांव व कस्बों में उच्च जलाशय निर्माण के नियमों में बदलाव कर ढाई हजार की आबादी पर जलाशय बनाने की मांग विभागीय मंत्री से की । विधायक गोदारा ने विधानसभा में बोलते हुए कहा कि इंदिरा गांधी नहर का पानी लूणकरणसर होते हुए नागौर ,जैसलमेर तक पहुंच गया परंतु लूणकरणसर विधानसभा क्षेत्र में आज भी 152 में से महज 40 से 50 गांवो में ही नहर का पानी आपूर्ति हो रहा है । विधायक गोदारा ने कहा कि जो पानी आपूर्ति हो रहा है उसको भी शुद्ध करने के पर्याप्त संसाधन नहीं है जिससे ग्रामीण जल जनित बीमारियों के शिकार बन रहे हैं । गोदारा ने कहा कि गांव में फ्लोराइड युक्त पानी पीने से लोगों की हड्डियां खराब हो रही है, इंसान समय से पहले ही वृद्ध नजर आने लगे हैं तथा कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां भी होने लगी है । गोदारा ने सदन में विभागीय मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए उच्च जलाशय निर्माण के नियमों में संशोधन कर प्रति ढाई हजार की आबादी पर उच्च जलाशय बनाने का मामला उठाया । गोदारा ने ग्रामीण अंचल की जल प्रदाय योजनाओं में पांच – 10 दिन तक मोटर खराब पड़ी रहने को गंभीर बताते हुए इसे ऑनलाइन करने की मांग भी की ताकि सभी के ध्यान में रहे कि कहां मोटर खराब है।

विधायक ने आबादी के साथ-साथ पशुधन की संख्या को भी इकाई मानकर गांव में पेयजल योजना स्वीकृत करने का मुद्दा उठाया । विधायक गोदारा द्वारा उठाए गए मामले पर विभागीय मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने कहा कि उच्च जलाशय के लिए आबादी ढाई हजार करने का मामला संज्ञान में लिया जाएगा ।