खुलासा न्यूज़, बीकानेर । जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पाल गौतम ने बताया कि जिले में प्रथम चरण में तीन पंचायत समितियों नोखा, पांचू और श्री डूंगरगढ की कुल 129 ग्राम पंचायतों में मतदान होगा। यहां सरपंच पद हेतु 572 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जबकि चार उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। इनमें श्री डूंगरगढ़ पंचायत समिति से तीन और नोखा से एक निर्विरोध निर्वाचित हुआ है।
गौतम ने बताया कि प्रथम चरण के मतदान के लिए 451 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। यहां 4 लाख 18 हजार 343 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे इनमें पुरूष मतदाता की संख्या 2 लाख 22 हजार 613 तथा महिला मतदाता की संख्या 1 लाख 95 हजार 723 है। उन्होंने बताया कि सर्वाधिक मतदान केंद्र श्रीडूंगरगढ़ पंचायत समिति क्षेत्र में है। यहां 169 मतदान केंद्र हैं, नोखा में 153 तथा पांचू पंचायत समिति क्षेत्र में 129 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि तीनों पंचायत समिति क्षेत्र में होने वाले चुनावो के लिए 129 सेक्टर मजिस्टेट नियुक्त किए गए है, जो वहां कानून व्यवस्था संधारित रखेंगे। इनमें नोखा पंचायत समिति क्षेत्र में 43, पांचू में 33 तथा श्रीडूंगरगढ पंचायत समिति क्षेत्र के लिए 53 सैक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए है।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पंचायत समिति चुनाव में पहली बार ईवीएम मशीन का प्रयोग किया जा रहा है। तीनों पंचायत समिति क्षेत्र में 589 नई मशीनों का आबंटन किया गया है। इनमें 451 क्रियाशील मशीने है तथा 138 आरक्षित रखी गई है। आरक्षित ईवीएम पंचायत समिति मुख्यालय सहित सभी सैक्टर मजिस्ट्रेट को भी उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि ईवीएम मशीनों का रेण्डमाईजेशन राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में कर लिया गया है।
तीनों पंचायत समिति में 36 – 36 अतिसंवेदनशील वं संवेदनशील मतदान केन्द्र
जिला मजिस्टेऊट व जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले की तीनों पंचायत समिति क्षेत्रों में 36 अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्र है, इनमें नोखा में 15, पांचू पंचायत समिति में 17 तथा जिले की श्रीडूंगरगढ पंचायत समिति क्षेत्र में 4 मतदान केन्द्र अतिसंवेदनशील चिन्हित है। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार 36 मतदान केन्द्र संवेदनशील मतदान केन्द्रों की श्रेणी में चिन्हित किए गए है। इनमें नोखा पंचायत समिति क्षेत्र के 18, श्रीडूंगरगढ पंचायत समिति क्षेत्र के 11 तथा पांचू पंचायत समिति क्षेत्र के 7 मतदान केन्द्र संवेदनशील मतदान केन्द्रों के रूप में चिन्हित किए गए है। उन्होंने बताया कि शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए 382 रिटर्निंग अधिकारी तथा 382 मतदान अधिकारी सहित 840 प्रथम मतदान अधिकारी नियुक्त किए गए हैं।