बीकानेर। अपराध की कड़ी किस तरह से शहर को खोखला करता जा रहा है और आम लोगों में पुलिस का कोई डर नहीं रहा है अपहरण व धोखाधड़ी जैसे मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है लेकिन पुलिस प्रशासन की उदासीनता के कारण बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहे है। ऐसे ही मामला एक सामने आया जहां पर एक युवक को चाकू की नौक पर युवक को गाड़ी में डालकर सूनसान इलाके के एक बंद मकान में ले जाकर लाखों रूपए मांगने का हस्ताक्षर करवाने का मामला जेएनवीसी पुलिस थाने में दर्ज हुआ है। इस संबंध में रानी बाजार निवासी मुकेश पुत्र कांतिलाल जैन (30) ने एक नामजद व एक अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। जिसकी जांच एसआई सुषमा कर रही है।
परिवादी ने पुलिस को रिपोर्ट देते हुए बताया कि प्रमोदी खत्री ने उसे थप्पड़ मारकर व चाकू दिखाकर उसकी गाड़ी की पीछे वाली सीट पर बिठा दिया तथा प्रमोदी के एक साथ ने उसकी गाड़ी स्टेयरिंग संभाल ली तथा दूसरे साथी ने यश विज को गाड़ी से उतार दिया। परिवादी का आरोप है ये लोग उसे गाड़ी में बिठाकर आर्य हॉस्पिटल से आगे घड़सीसर रोड पर सुनसान जगह स्थित एक मकान पर ले गए। इस दौरान प्रमोद खत्री व उसके साथी ने थाप-मुक्कों से मारपीट कर एक कमरे में बंद कर दिया। उसके बाद प्रमोद खत्री ने उसको चाकू दिखाकर रूपए वसूलने की नीयत से एक कॉपी पर दबाव बनाकर यह लिखवाया कि प्रमोद खत्री उससे 13 लाख रुपए मांगता है तथा वह उसे 10 हजार रुपए प्रतिमाह अदा करता रहेगा। परिवादी का आरोप है कि यह लिखवाकर उससे उसका नाम लिखवा लिया तथा पूरे घटनाक्रम का वीडियो प्रमोद के दोस्त ने अपने मोबाइल में बनाया। पुलिस ने परिवादी की रिपोर्ट पर आरोपितों के खिलाफ धारा 323, 341, 365, 384 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की।