>


बीकानेर। पिछले चार पांच दिन से जिस तरह से प्रदेश की राजनीति में बवाल मचा जिसमें कई सरकार को गिरने को लेकर खरीद फरोख्त की बाते सामने आई। जिसको लेकर ओडियों तक वायरल हुआ है। इसी बीच गजेंद्र सिंह शेखावत व मानिकचंद सुराणा की मुलाकात को जोडक़र जो बाते सामने आई। इसको लेकर बीकानेर के भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह शेखावत का एक बयान आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि संजय स्वयं यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष रहा है तथा संजय के पिता भी लूणकरणसर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी रहे है । कांग्रेस की सरकार, कांग्रेस के विधायक और कांग्रेस से जुड़े हुए दलाल का आपसी मामला कांग्रेस पार्टी की आंतरिक सर फुटव्वल का परिणाम है। इस पूरे प्रकरण में गजेन्द्रसिंह शेखावत और मानिकचंद सुराणा की मुलाकात को जोडऩा राजनीतिक साजिश का हिस्सा है । कांग्रेस अपने घर की लड़ाई को दूसरों के माथे पर मढ़ कर संजीदा राजनेताओं की छवि को खराब करना चाहती है। शेखवात ने कहा कि सुराणा की धर्मपत्नी के निधन पर उनके यहां संवेदना व्यक्त करने राजस्थान के लगभग सभी दलों के राजनेता पहुंचे थे उसमें केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी संवदेना व्यक्त की थी। शेखावत ने कहा है कि राजस्थान में कांग्रेस विधायक और एक दलाल के बीच की बातचीत को कुछ मीडिया चैनलों ने गजेंद्र सिंह शेखावत और मानिकचंद सुराणा की मुलाकात से जोडक़र खबर चलाई है। गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान के संजीदा राजनेता है और पूर्व वित्त मंत्री समाजवादी नेता मानिकचंद सुराणा की राजनीति भी स्वच्छ छवि की रही है। बता दें, सुरेंद्रसिंह शेखावत भी लूणकरणसर से हैं।