बीकानेर। श्री जी धूमावती चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा हर त्रेमासिक में धूमावती माताओं को वित्तिय सेवा प्रदान करने के लिये कार्यक्रम का आयोजन धरणीधर महादेव मन्दिर प्रांगण में रखा गया। अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया ने बताया कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर पश्चिम रेल्वे के वरिष्ठ वाणिज्यिक मंडल प्रबंधक जितेन्द्र मीणा ने ट्रस्ट द्वारा किये जा रहे इस अनूठे कार्य की सराहना की। कार्यक्रम अध्यक्ष भागवताचार्य बाल संत छैल बिहारी महाराज ने माताओं की सेवा को भगवान् की सेवा बताते हुए अपने उद्बोधन से उपस्थित सभी को मंत्रमुग्ध किया। विशिष्ट अतिथि आयकर अधिकारी प्रमोद देवड़ा ने बताया कि दान करने से कभी धन की हानि नहीं होती है। उद्योगपति एवं समाजसेवी बंसत नौलखा ने बताया कि नर सेवा नारायण सेवा का ही एक रूप है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एल.डी. पंवार ने माताओं को सरकार द्वारा जारी नीतियों से माताओं को जोडऩे के लिये केम्प लगवाने का आश्वासन दिया। भामाशाहों द्वारा माताओं को साड़ी, शाल,गेडिये,मैथी के लड्डू व तिल की पापड़ी भी भेंट की गयी। ट्रस्ट के सचिव विनोद जोशी ने बताया कि कार्यक्रम में ट्रस्ट द्वारा 88 माताओं को 1000 रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई। इस अवसर पर कन्हैयालाल आचार्य, अशोक चांडक, विनोद गोयल, आदर्श शर्मा, भंवरलाल चांडक, हरिगोपाल उपाध्याय,अनंतवीर जैन,जयकुमार भंसाली,वीरेंद्र किराडू,अशोक तंवर,राधेश्याम पंचारिया,दाऊलाल खुडिया,सेवाराम सोनी आदि उपस्थित हुए । मंच संचालन गौरव मूंधडा ने कि या।