>



बीकानेर। भारतीय जीवन शैली और विभिन्न प्राकृतिक चिकित्सा पद्धतियों (योग, आयुर्वेद, प्राकृतिक चिकित्सा एवं होम्योपैथ) के संबंध में आमजन को जागरुक करने और स्वास्थ्य संवर्धन कार्य के उद्देश्य से हमारा उन्नति संस्थान द्वारा धन्वतरि दल का गठन किया गया है।वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी डाॅ. सुंधाशु व्यास को इसका संयोजक, योग शिक्षक भुवनेश पुरोहित और इंजीनियरिंग काॅलेज के व्याख्याता साकेत को सह संयोजक, भारतीय चिकित्सा पद्धति विशेषज्ञ विश्वनाथ शर्मा को व्यवस्था प्रमुख, स्वदेशी कार्यकर्ता गोरधन सारस्वत को सह व्यवस्था प्रमुख, व्याख्याता मनोज छीपा को योजना प्रमुख, योग गुरु नंद किशोर गहलोत को सह योजना प्रमुख बनाया गया है। पवन व्यास को समन्वयक नियुक्त किया गया है।संस्थान के मधुसूदन व्यास ने बताया कि धनवंतरि दल द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में शिविर, कार्यशालाएं, सेमीनार, संगोष्ठियां आदि आयोजित की जाएंगी। साथ ही दैनिक जीवन में इन पद्धतियों को अपनाने के लाभ के बारे में जागरुक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आज के दौर में संयमित जीवन जीना बेहद जरूरी है, अन्यथा हम अनेक बीमारियों को सीधा आमंत्रण देते हैं। इनसे बचाने की दिशा में यह संस्था जागरुकता अभियान चलाएगी।