>



बीकानेर। जिले के नोखा पुलिस थाना क्षेत्र में एक युवक को पुलिस को शिकायत करना भारी पड़ गया। जिसके चलते एकराय होकर आएं कुछ युवकों ने एक युवक बेरहमी से पीट पीट कर अधमरा कर दिया। यहीं नहीं उसकी आंखों में मिट्टी डालकर हाथ पर मोटरसाईकिल चढ़ा दिया। वारदात में गंभीर घायल युवक को नोखा की बागड़ी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां चिकित्सकों ने उसे स्थिति गंभीर पीबीएम ट्रोमा सेंटर रेफर कर दिया। इस संदर्भ में घायल युवक के पिता ने पांचू थाने के जेडी मगरा व हाल आर.के. पुरम कॉलोनी नोखा निवासी भगवानाराम ने पुलिस को रिपोर्ट देते हुए बताया कि सुनील अशोक के साथ जा रहा था। इतने में तीन मोटरसाइकिलें आई, जिन पर रामनिवास पुत्र शिवकरण, रोड़ा निवासी शिवकरण पुत्र बुधराम, राजाराम पूनिया, रामा पूनिया, कैलाश देहड़ वकील, गोकलराम देहड़, मानाराम देहड़, ओमप्रकाश पुत्र बागाराम व सुनील सवार थे। इन लोगों ने वहां से पुत्र सुनील को उठाकर एक सीमेंट की दुकान के पास ले गए और वहां पर ईंटे पड़ी थी तो शिवकरण ने पुत्र सुनील की आंखों में ईंटों की मिट्टी डाल दी व जमीन पर गिराकर मारपीट करनी शुरू कर दी। उसके बाद रामा पूनिया ने अपनी बाइक पर बैठकर बाइक को सुनील हाथ पर निकाली। शोर-शराब सुनकर रामा रायल नामक व्यक्ति आया जिसने बीच-बचाव कर छुड़ाया और घायल सुनील को नोखा बागड़ी अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने परिवादी की रिपोर्ट पर आरोपितों के खिलाफ धारा 323, 341, 365, 143 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की।
मारपीट की शिकायत से नाराज थे आरोपी
बताया जा रहा है कि भगवानाराम की पुत्री द्रोपती की शादी रोड़ा गांव हुई है। जिसके साथ उसके ससुराल वालों ने मारपीट की व बिजली के तार से करंट लगाया। जिसकी शिकायत भगवानराम ने पुलिस को फोन पर की तो पुलिस शिवकरण व रामनिवास को पकड़कर थाने ले आई। इस कानूनी कार्यवाही के चलते ही आरोपियों ने सुनील के साथ मारपीट की।