बीकानेर। आरसेटी बीकानेर द्वारा राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद् के समुदाय संसाधन व्यक्ति के लिये आयोजित छ: दिवसीय वित्तिय साक्षरता कार्यक्रम का आरसेटी में समापन हुआ इस अवसर पर मुख्य अतिथि राजस्थान ग्रामीण आजीविका बीकानेर के जिला प्रबन्धक रमेश व्यास ने बताया की स्वंय स्वायता समूह के आर्थिक विकास तथा सामाजिक सुरक्षा के लिए आवश्यक वित्य सुविधाओं का उपयोग कर जीवन का सर्वांगीण विकास कर सकते है तथा वित्त प्रबन्धन हमारे जीवन का अभिन्न अंग है। विशिष्ट अतिथि मुख्य प्रंबधक जिला अग्रणी बैंक के वाई.एस.सोलंकी ने बताया की वर्तमान में ग्रामीण अंचल में महिलाओं के लिये वित्त प्रबन्धन अति आवश्यक है। सांप सीढी के परम्परागत खेल के माध्यम से बैंकिंग प्रबंधन का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया। इस दौरान राजिविका के मास्टर ट्रेनर रघुनाथ डूडी द्वारा प्रभाव शाली संवाद,व्यक्ति का विकास तथा एस.एच.जी समूह में समुदाय संसाधन व्यक्ति आदि विषय वस्तु पर प्रशिक्षण दिया। इस कार्यक्रम में राजिविका समूह स्तर पर आवश्यक वित्त प्रबन्धन की जानकारी दी गयी। आरसेटी निदेशक लाल चंद वर्मा ने बताया की यह कार्यक्रम पूर्णतया राष्ट्रीय रूडसेटी अकादमी,बंगलौर द्वारा प्रायोजित है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण अंचल की एस.एच जी समूह की महिलाओं को वित्तिय साक्षरता से सम्बन्धित कार्यक्रम का समावेशन करते हुए बेहतर वित्त प्रबन्धन की जानकारी को बढ़ावा देना है। समापन पर प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किये गये तथा वित्त जागरूकता सम्बन्धित किट जारी की गयी। कार्यक्रम प्रभारी शशिबाला शर्मा द्वारा आवास तथा महिलाओं के प्रबन्धन में अपनी भूमिका निभाई तथा संस्थान कार्मिक सना मिर्जा ने सभी आगुन्तकों का धन्यवाद किया। जबकि संस्थान अनुदेशक कपिल पुरोहित ने संचालन किया।