बीकानेर। आवारा किस्म के युवकों से आहत राजकीय स्कूल की महिला शिक्षाकर्मी ने जिला पुलिस अधीक्षक के समक्ष परिवार पेश करके आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्यवाही की गुहार लगाई है। पीडि़ता ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष पेश किये गये परिवाद में बताया है कि मैं 429 आरडीआर जगदेवाला की राजकीय प्राथमिक स्कूल की शिक्षाकर्मी हूं। स्कूल के प्रबोधक व प्रभारी सुखपाल सिंह ने आवारा किस्म के युवकों को अपना दोस्त बना रखा है,इनमें शामिल कुशाल पुत्र धर्मचंद बिना कामकाज ही स्कूल में आता जाता है,परेशान करने के लिये मेरे ऊपर फब्तिया कसता है और गलत इशारे करता है,छेडख़ानी के लिये मेरी पीठ पर पत्थर मारता है। कुशाल की हरकतों को लेकर मैंने शाला प्रभारी सुखपाल सिंह के समक्ष शिकायत दर्ज कराई तो कोई कार्यवाही करने के बजाय सुखपाल सिंह मेरे ऊपर भड़क गया। पीडि़ता ने बताया कि सुखपाल सिंह के कहने पर कुशाल सिंह ने मुझे कहा कि तु एक बार मेरे साथ पंलग पर सो जायेगी तो तेरा क्या जायेगा। परिवाद में पीडि़ता ने इससे भी गंभीर आरोप लगाये है। पीडि़ता ने परिवाद में बताया कि मैं उच्च अधिकारियों के समक्ष भी पीड़ा जाहिर कर शिकायत दर्ज करवा चुकी हूं,लेकिन उन्होने भी आज तक कोई कार्यवाही नहीं की। पीडि़ता ने अनहोनी की आशंका जताते हुए अवगत कराया है कि शाला में मैं एकल महिला स्टाफकर्मी हूं,शाला प्रभारी सुखपाल सिंह के इशारे पर आरोपी युवक मेरे साथ शर्मनाक वारदात कर सकते है। इसलिये पुलिस केस दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये।