बीकानेर। बीकानेर के ओशो प्रेमियों की एक मीटिंग आज स्वामी आनन्द प्रेम की अध्यक्षता में हुई। जिसमें आचार्य रजनीश ओशो का 30 वां निर्वाण दिवस रविवार सांय 5 से 8 बजे तक ओशो आनन्द विहार केन्द्र गंगाशहर थाने के पीछे धूमधाम से मनाने का निर्णय लिया गया। इस मीटिंग में विजय सिंह राजपुरोहित, विजय व्यास, सीताराम कच्छावा, डॉ. सी.एल. शर्मा, भगवान दास खत्री, मांगीलाल वर्मा, भवानीशंकर ओझा, मनोज जोशी, सुन्दरलाल अग्रवाल आदि ओशोप्रेमी उपस्थित थे। विजय सिंह राजपुरोहित ने बताया कि ओशो के ऑडियों प्रवचन और संध्या सत्संग का आयोजन रखा गया है। ओशो का सारा दर्शन प्रेम एवं ध्यान पर आधारित था। वे परमात्मा का साक्षात्कार प्रेम व ध्यान के माध्यम से करने में विश्वास रखते थे। ओशो ने अपने सन्यासियों को दमन व निषेध के स्थान पर ध्यान से जोड़ा।