>


बीकानेर। नारी शक्ति समाज के संस्कारों का आधार है। यदि भारत को शक्तिशाली बनाना है तो नारी शक्ति का बहुमुखी विकास अति आवश्यक है। ये कथन डॉ. श्याम अग्रवाल हॉस्पीटल एंड रिसर्च सेन्टर में आज आयोजित नारी शक्ति सम्मान के दौरान समाजसेविका डॉ. प्रभा भार्गव ने कहे।

उन्होंने कहा कि समाज में परिवर्तन लाना जरूरी हैं क्योंकि नारी शक्ति को मुख्य धारा से जोड़े बिना विकास की कल्पना ही नहीं की जा सकती है। डॉ. मेघना शर्मा ने कहा हर महिला को सशक्त बनने की शुरुआत घर से करनी होगी और महिलाओं को अपने अधिकार के लिए जागरूक करना होगा।
कार्यक्रम में मौजूद डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि आज समाजसेवा, शिक्षा, खेल, चिकित्सा सहित हर क्षेत्र में नारी अपनी शक्ति का परचम लहरा रही है। राष्ट्र के लिए ये शुभ संकेत हैं। अस्पताल के निदेशक डॉ. श्याम अग्रवाल ने कहा कि नारीशक्ति से पूरी दुनिया चल रही है, इसे सम्मान देंगे तो आपको उससे ज्यादा मान वैभव मिलेगा। नारी शक्ति ही समाज और राष्ट्र का आधार स्तंभ है।

समारोह में अर्चना थानवी, रणवीर सिंह राठौड़, नंदकिशोर अग्रवाल, डॉ. एसके ललवाणी ने भी विचार रखे। नारीशक्ति सम्मान समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली नारी शक्तियों को सम्मानित किया गया।

इन महिलाओं का हुआ सम्मान
कार्यक्रम के दौरान लक्ष्मीदेवी शर्मा, तारादेवी आचार्य, शबनम, रजिया बानो, इन्दू बन, लक्ष्मी ओझा, सरस्वती आचार्य, राजभारती शर्मा, कामिनी भोजक, अंजलि शेखावत, नजमा बानो, मंजू रांकावत, शबनम, सत्यादेवी सुथार को श्रीफल, शॉल व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।